1071 अन्त्योदय कार्ड धारकों को मिले सूखा राहत पैकेज

By: jhansitimes.com
May 16 2018 09:17 pm
223

(रिपोर्ट-सैय्यद तामीर उद्दीन) महोबा। नवीन मण्डी समिति महोबा में आज सूखा राहत सामग्री का वितरण सांसद हमीरपुर-महोबा पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल, भाजपा जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह सेंगर एवं उपजिलाधिकारी सदर राजेश यादव की उपस्थिति में किया गया।राहत सामग्री के तहत 25 किलों आलू, 15 किलो आटा, 05 किलो चने की दाल, 03 किलो सरसों का तेल सहित एक-एक किलो आयोडीन युक्त नमक, मिल्क पाउडर, तथा शुद्ध देसी घी बीजानगर, करहरा कलां, मामना-मुड़हारा, नथूपुरा, चांदो-चंदपुरा, दमौरा, पचपहरा-घुटवई, बिलबई, डढ़हत माफ, चुरवरा, झिरसहेबा-गुगौरा, मकरबई, रतौली-नैगंवा, छिकहरा, काली पहाड़ी एवं किड़ारी ग्रामों के कुल 1071 अंत्योदय कार्ड धारकों को दिया गया।उक्त कार्यक्रम में सभी जनपद स्तरीय अधिकारियों ने अपने-अपने विभागों द्वारा संचालित योजनाओं के बारे में जानकारी दी सांसद ने सभी उपस्थित लोगों से अपील की कि सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान न पहुंचाए तथा योजनाओं का लाभ लेने में हम सबका सहयोग करें। सभी लोग बिना किसी जातिगत भेदभाव के प्रेम एवं सदभाव से रहें। भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि हमारी सरकार आप लोगों के लिए दिन-रात काम कर रही है। कोई भी गरीब भूखा नहीं सोयेगा तथा हर गरीब को खाना एवं शुद्ध पेयजल मुहैया कराया जायेगा।इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि रमेश यादव, तहसीलदार सदर राजेन्द्र कुमार सहित अन्य जिला/तहसील स्तरीय अधिकारीगण, पत्रकारगण, सामजसेवी एवं जनप्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे।

 पानी का भी नहीं था कोई इंतजाम हैण्डपम्प से बुझाना पड़ी प्यास 

 पनवाड़ी ब्लाक के कस्बा महोबकंठ ने सूखा राहत पैकेट का वितरण भाजपा नेताओं के अलावा नायब तहसीलदार की मौजूदगी में कराया गया है, तेज धूप व भीषण गर्मी में यहां सूखा राहत सामग्री लेने आये पात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ा, यहां न तो पानी की व्यवस्था था और न ही कोई पण्डाल लगा था, दोपहर का समय था तो सूर्य देवता के तेवर तेज थे और भीषण गर्मी के चलते लोग यहां से वहां बिलबिलाते घूम रहे थे, अधिकारी व कर्मचारी थाने में आराम फरमा रहे थे, और पात्र राहत पैकेट पाने के लिये भीषण गर्मी व धूप में अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे, हालांकि पानी का भी यहां कोई इंतजाम नहीं था और नहीं कोई जल टेंकर की व्यवस्था थी, जिससे राहत समाग्री पैकेट लेने आने वाले ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को प्यास बुझाने के लिये हैण्डपम्प का सहारा लेना पड़ा। 


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।