बराना घाट पर प्रशासन का छापा आधा सैकड़ा से अधिक ट्रक पकड़े

By: jhansitimes.com
Jul 11 2018 07:44 pm
603

(रिपोर्ट-सैय्यद तामीर उद्दीन) महोबा। बराना घाट में अवैध खनन की लगातार प्रमुखता से समाचार पत्रों में समाचार प्रकाशित होने के बाद प्रशासन को हरारत आयी है, बीती रात जिलाधिकारी के निर्देश पर उपजिलाधिकारी कुलपहाड़, एआरटीओ व सीओ ने पुलिस बल के साथ बराना बालू घाट पर छापा मारा और आधा सैकड़ा से अधिक ट्रको को ओवर लोड बालू मिलने पर चालान कराकर सीज कराया है। प्रशासन की इस कार्यवाही से खनन माफियाओं में भगदड़ मच गयी। बताया जाता है, वर्तमान समय में पनवाड़ी विकास खण्ड अवैध खनन का अड्डा बन गया है, यहां चाहे बराना घाट हो या छतेसर या फिर नकरा घाट हो इसके अलावा पनवाड़ी थाना क्षेत्र के अन्य बालू घाटों पर खनन माफिया मशीनों से घाटो का सीना छलनी करा रहे है। अवैध खनन कराने के समाचार पत्रों में समाचार लम्बे समय से प्रकाशित किये जा रहे है, जिसकों ध्यान में रखते हुये जिला प्रशासन को हरारत आयी है,  बीती रात जिलाधिकारी के निर्देश पर उपजिलाधिकारी, सीओ, एआरटीओं ने भारी पुलिस बल को साथ लेकर बराना घाट पर छापामारा तो वहां पहुंची टीम को सैकड़ों वाहन नजर आयें प्रशासन द्वारा आधा सैकड़ा से अधिक बालू से भरे ट्रक व डम्फरों चालान करते हुये सीज किया गया है। इतना ही नहीं प्रशासन की छापामारी से बराना घाट पर मौजूद खनन माफियाओं में हड़कम्प मच गया और आधे से अधिक खनन माफिया वहां से नदारत हो गये प्रशासन द्वारा छापामार कार्यवाही के बाद सभी वाहनों को पुलिस के हवाले किया है। गौर तलब हो कि पनवाड़ी थाना क्षेत्र के बालू घाटों पर खनन माफियाओं का डेरा डला हुआ है और वह बेखौफ होकर खनन कार्य कराने में लगे हुये है। हालांकि अभी भीा खनन माफिया अपनी फितरत से बाज नहीं आयेगें छापामार अभियान के बाद बुधवार की सुबह से ही बराना बालू घाट पर पुनः बालू खनन का कार्य प्रारम्भ हो गया है।

छापामार अभियान की माफियाओं को पहले दे दी सूचना........ 

प्रशासन द्वारा बराना घाट पर अचानक छापामारा गया लेकिन प्रशासन के वहां पहुंचने से पहले ही खनन माफियाओं को इसकी सूचना पहुंच गयी थी, जिस कारण दर्जनों खनन माफिया बालू घाट से नदारत हो गये थे और बालू घाट पर खड़े वाहन भी यहां वहां छिपा कर खड़े कर दिये गये थे, खनन माफियाओं का जिले के कुछ अधिकारियों, कर्मचारियों से बेहतर गठजोड़ है तभी तो छापामार कार्यवाही की सूचना उनके पास प्रशासन के पहुंचने से पहले ही पहुंच गयी, तभी प्रशासन को आधा सैकड़ा ही वाहन मिल सके, यदि सूचना न पहंुची होती तो सैकड़ों वाहन प्रशासन को घाट पर ही बरामद हो जाते। 

सैकड़ों ट्रक सूचना मिलते ही नेकपुरा व गोंनगुढ़ा में खड़े कराये 

जिला प्रशासन मंगलवार की रात जब बराना घाट पर छापामार अभियान के तहत कार्यवाही कर रहा था, तभी नेकपुरा व गोंनगुढ़ा नेहर के पास सैकड़ों वाहन बालू से भरे खड़े हुये थे, यह वाहन खनन माफियाओं ने बराना घाट से प्रशासन के आने के पहले ही रवाना कर दिये थे। खनन माफियाओं को सूचना मिल गयी थी कि प्रशासन बराना घाट पर आने वाला है तो उससे पहले ही माफियाओं द्वारा सभी बालू से भरे वाहन नेकपुरा नेहर व गोंनगुढ़ा रोड पर खड़े करा दिये थे जिससे यह सभी वाहन प्रशासन की कार्यवाही से बच गये है। खनन माफियाओं को यदि विभाग के ही विभीषण सूचना न देते तो यह सभी वाहनों पर भी प्रशासन की कार्यवाही हो जाती, लेकिन खनन माफियाओं का गठजोड़ उनके लिये लाभदायिक साबित हो रहा है, और वह अभी भी बालू घाटो पर खनन कार्य कराने से बाज नहीं आ रहे है। 


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।