बिटिया ट्विंकल आज देश शर्मिंदा है,क्योंकि तेरा कातिल अभी जिंदा है....पुलिस की कार्यशैली पर सवाल

By: jhansitimes.com
Jun 08 2019 07:15 pm
465

देश गुस्से में उबल रहा है...हर कोई गुस्से में नजर आ रहा है...और एक बार फिर हर बेटी के पिता के माथे पर बल पड़ गया है...क्योंकि मानवता...इंसानियत फिर हुई शर्मसार...जिसने भी सुना उसकी जुबान पर बस एक ही बात कि  आखिर कैसे कोई इंसान इतना क्रूर हो सकता है..जानवर हैवान बन सकता है... कि छोटी सी ट्विंकल....जिसकी उम्र महज दो से तीन वर्ष के बीच की रही होगी... उसकी इतनी निर्दयता और निर्ममता से हत्या कर दी...इस ह्रदय विदारक घटना के बारे में सोचकर ही रुह कांप जाती है...वो मासूम बच्ची जो अभी ठीक से चलना और बोलना भी नहीं जानती थी...जिसकी एक हंसी के लिए उसके अम्मा और बाबुजी जान छिड़कते रहे होंगे...आज वो सबको छोड़कर चली गई.... लगता है इंसानियत खत्म हो चुकी है...वास्तव में अब लगने लगा है कि कलयुग अपने चरम पर है...गुस्सा तो इतना आ रहा है कि शब्द मर्यादित ना हो सकेंगे और अगर व्यक्त भी होगें तो बस इतना ही कहूंगा कि ऐसे लोगो को कानून से इतर हो कर जिंदा जला देना चाहिए...

दरअसल वारदार देश के सबसे बड़े सूबे अलीगढ़ के टप्पल की की है...जहां ढाई वर्ष की ट्वींकल शर्मा की बड़ी ही निर्दयता से हत्या कर दी गई....वो भी महज चंद रुपयों की खातिर....इंसान की शक्ल में मौजूद उन हैवानों ने मासूम बच्ची की निर्मम हत्या कर दी....परिजनों का आरोप है कि दरिंदों ने बच्ची के हाथ-पैर उखाड़ दिए और उसे तेजाब से जलाकर दफन कर दिया...फिलहाल तो पुलिस ने इस जघन्य अपराध के मामले में दो आरोपियों और उनके परिवार वालों को गिरफ्तार कर लिया है...

आपको यकिन नहीं होगा लेकिन हैवानियत की सारी इंतेहां को पार करते हुए दरिंदों ने मासूम सी बच्ची के साथ ऐसी वहशियाना हरकत की कि शैतान की आंखों में भी आंसू आ जाएं....उन जल्लादों से तुतलाती जुबान में रहम की भीख मांगती उस मासूम बच्ची पर जरा भी तरस नहीं खाया...उस छोटी सी,प्यारी सी बच्ची की मासूम चीखों का भी उन दरिंदो पर कोई असर नहीं हुआ...

स्थानिय पुलिस प्रशासन के अनुसार बीते 2 जून को पुलिस ने अलीगढ़ जिले के टप्पल इलाके के डंपिंग यार्ड से एक मासूम की लाश बरामद की...जिसे देखकर वहां मौजूद हर आमो खास सिहर गया....

आपको बता दें कि अलीगढ़ के एक शख्स से मासूम के पिता ने कुछ रुपये उधार लिये थे... वह युवक बच्ची के पिता को पैसे लौटाने के लिए धमकाने लगा....जिसके अगले ही दिन मासूम बच्ची घर से गायब हो गई और और घबराया हुआ पिता पुलिस थाने में बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाने के लिए चक्कर लगाने लगा....करीब 30 घंटे बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया और फिर तीन दिन के बाद बच्ची की लाश पुलिस ने बरामद की....पुलिस ने उस जगह की खुदाई की और बच्ची की लाश को बाहर निकाला....

इस पूरे मामले में पुलिस ने दो आरोपी मोहम्मद जाहिद और मोहम्मद असलम को गिरफ्तार कर लिया है...आपको ये भी बताते चलें कि इन दोनो में एक आरोपी तो पहले ही रेप केस में सजा काट रहा था और बेल पर बाहर निकला था....

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार बच्ची के शरीर में तमाम हिस्से थे ही नहीं...बड़ी मुश्किल से उसका पोस्टमार्टम किया गया....सवाल उठता है पुलिस प्रशासन के रवैये पर...कि आखिर कहां सोई हुई थी पुलिस...क्यों नहीं इस मामले में पहले कार्यवाही हुई....शायद पुलिस पहले हरकत में आ गई होती तो एक मां से उसकी बेटी आज जुदा नहीं होती....यकिनन इस घोर अपराध की जितनी निंदा की जाए उतनी ही कम है...औऱ एसे दरिंदों को फांसी से कम सजा तो कुछ हो ही नहीं सकती...जिससे कि भविष्य में किसी और मासूम के साथ ऐसा ना हो...सवाल योगी सरकार को लेकर भी है कि क्या यही है आपका प्रशासन...दावे और वादे तो आपने खूब किए....लेकिन कहां है इंसाफ....देश मांग रहा है इंसाफ...ट्विंकल बिटिया हम शर्मिंदा है....तेरे कातिल अभी जिंदा है....  
 


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।