BJP ने नौजवानों को अंधविश्वास और रूढि़वादिता के अंधेरे में फंसाया, नहीं भविष्य निर्माण की चिंता

By: jhansitimes.com
Aug 28 2018 09:53 am
239

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सैंकड़ों नौजवानों को पार्टी मुख्यालय लखनऊ में कहा कि समाजवादी पार्टी की दृष्टि भविष्य पर है। आज चिंता का विषय यह है कि आने वाली पीढ़ियों को सुखद भविष्य कैसे मिल सकेगा। भाजपा युवा पीढ़ी को अंधविश्वास और रूढि़वादिता के अंधेरे में फंसाए रखना चाहती है। उसे नौजवानों के भविष्य निर्माण की कतई चिंता नहीं है।

यादव ने समाजवादी युवाजन सभा की बैठक में कहा कि इन दिनों लोकतंत्र की परीक्षा ली जा रही है। भाजपा समाजवादी विचारधारा को बदनाम करने की रणनीति पर काम कर रही है। वह भ्रम, अफवाह और गुमराह करने की साजिश करती है। लोकतांत्रिक संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी को नौजवानों पर भरोसा है। इस पीढ़ी की ऊर्जा, शक्ति और निष्ठा बेजोड़ है जो परिवर्तन की वाहक है। युवा पीढ़ी विचार से ही समाजवादी होती है। युवा जातिवाद और साम्प्रदायिकता के शिकार नहीं हो सकते हैं। भाजपा युवा पीढ़ी का भविष्य बर्बाद कर रही है। नौजवानों को झूठे मुकद्दमों में फंसाया जा रहा है। विश्वविद्यालयों में छात्रों को दाखिला देने में बंदिशें लगाई जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि भाजपा बेरोजगारी के मुद्दे पर मौन है। नोटबंदी से बेरोजगारी में वृद्धि हुई है। जीएसटी से अर्थ व्यवस्था घाटे में गई है। दूसरे देशों के मुकाबले भारत पिछड़ता जा रहा है। किसानों को भाजपा ने धोखा दिया है। गन्ना किसानों को कुछ नहीं मिला है। भाजपा राज में भ्रष्टाचार का बोलबाला है। वर्तमान सश्राधारियों के कारण बहन-बेटियों का मान-सम्मान खतरे में है। अपराध नियंत्रण के लिए यूपी डायल 100 व्यवस्था को बर्बाद कर दिया गया है। समाजवादी सरकार ने 18 लाख लैपटॉप बांटे थे। सामाजिक न्याय के लिए समाजवादी पार्टी ही संघर्ष करती आई है। बिना गैर-बराबरी को मिटाए सामाजिक सद्भाव नहीं हो सकता है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से तमिलनाडु से आए डी. शशिकुमार धर्मलिंगम ने अपने 80 साथियों के साथ मुलाकात की और समाजवादी पार्टी की ताकत के विस्तार के बारे में चर्चा की। 2019 में लोकसभा चुनाव की तैयारी तमिलनाडु में समाजवादी पार्टी कर रही है। इसके लिए ही धर्मलिंगम ने अखिलेश यादव को चेन्नई आने का निमंत्रण दिया।


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।