सब्जी का ठेला लगाते-लगाते और छाता बेचते-बेचते टीवी सीरियल के स्टार बन गये कारामाती

By: jhansitimes.com
Aug 18 2019 12:52 pm
373

उरई। टीवी सीरियलों के जरिए धीरे-धीरे अलग पहचान बनाते जा रहे मान सिंह कारामाती में अभिनय के लिए एक जुनून है जिसके चलते उन्होंने बिना धन, साधन, सोर्स के मुम्बई पहुंचकर कभी सब्जी का ठेला लगाया तो कभी छाते बेचे पर हिम्मत नहीं हारी और इसी के कारण उन्हें सीरियलों में आखिर काम मिलना शुरू हुआ। अभी तक उन्होंने जितने करेक्टर किये हैं उन सभी को सीरियल और फिल्मों के जाने माने कद्रदानों से सराहना मिली है। 
कारामाती का कहना है कि उनकी गाड़ी पटरी पर आ चुकी है जिससे अब उन्हें भरोसा हो गया है कि अब वे अभिनय की दुनिया में वह मुकाम हासिल कर पायेगें जिसकी उन्हें दरकार है। श्रीदेवी के पुत्र अर्जुन कपूर के साथ कलर्स चैनल के सीरियल पर काम करने का मौका मिलने के बाद से उनका नाम सुर्खियों में है जिस पर नाज कर रहे शहर के बाशिंदे भी दुआ मांगने के साथ विश्वास जता रहे हैं कि एक दिन कारामाती बुलंदियों पर होंगे।
सूचना विभाग में बाबू रहे अर्जुन सिंह के पुत्र मान सिंह को अभिनय का शौक बचपन से ही था। छात्र जीवन से ही वे मंच लूटने लगे थे। मंडल स्तर तक उन्हें नवाजा गया। इस बीच उनके पिता को कैंसर ने ग्रसित कर लिया और वे कुछ ही समय में चल बसे। इसके बाद उनकी पारिवारिक स्थिति लडख़ड़ा गई। दूसरी ओर अभिनय की लगन भी उनसे नहीं छूट पा रही थी। 2013 में उन्होंने ट्रेन पकड़ा और बिना किसी सहारे के मुम्बई पहुंच गये। वहां उन्हें बहुत धक्के खाने पड़े। उन्हें पहली सफलता तब मिली जब कलर्स के तंत्र सीरियल में उन्होंने तांत्रिक का करेक्टर किया। इस ब्रेक के बाद वे सीरियलों की सीढिय़ां चढ़ते चले गये। नवरंग जी में उन्होंने जटाधारी विलेन का रोल किया। सब टीवी पर प्रसारित तारक मेहता के सीरियल उल्टा चश्मा में मुन्ना भाई का उनका करेक्टर काफी पसंद किया गया। विलेन के साथ-साथ कामेडी रोल में भी उन्होंने खूब रंग जमाया। सोनी टीवी पर लेडीज स्पेशल में चर्सी का रोल हो या मेरी हानिकारक बीबी सीरियल का रोल इसकी बानगी है। उनकी ताजा उपलब्धि मिसिंग शीर्षक से तैयार हो रही वेब सीरिज है। इसमें भी उन्होंने चर्सी का करेक्टर किया है। यह सीरिज जल्द ही एमाजोन और जियो सिनेमा पर प्रसारित होगी। कारामाती कहते हैं कि पिता का साया बचपन से ही उठ गया था। मां ने उनको और परिवार को संभाला। वे अभिनय को भी एक इबादत मानते हैं इसीलिए इसमें इतना जुनून होता है कि बचपन में सारे शौक छो?कर उन्होंने अपनी जिंदगी का सारा फोकस एक्टिंग पर केन्द्रित कर दिया था। साइंस से ग्रेजुएट कारामाती अभी केवल 26 वर्ष के हैं। उन्हें जल्द ही बालीवुड की मूवी में भी काम प्राप्त हो सकता है क्योंकि इसके लिए उन्हें आफर मिलने शुरू हो गये हैं।


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।