चैम्पियंस ट्रॉफी: रोहित ने लगाया शतक, भारत पहुंचा फाइनल में

By:
Jun 15 2017 09:58 pm
284

चैम्पियंस ट्राफी के दूसरे सेमी फाईनल में रोहित ने शतक लगाते हुए भारत को 9 विकेट से शानदार जीत दिलाई है। भारत बांग्लादेश को हारते हुए फाइनल में पहुंच गया है। मैंच में पहले बैटिंग करते हुए बांग्लादेश ने 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 264 रन बनाये थे। जिसके जवाब में भारत ने 40.1 ओवर में 1 विकेट खोकर 265 रन बनाकर जीत हासिल की है। भारत की ओर शांनदार शतक लगाते हुए रोहित शर्मा ने 123 रन और विराट कोहली ने 96 रन व शिखर धवन ने 46 रन बनाये है।  

टारगेट का पीछा करने उतरी टीम इंडिया को शिखर धवन और रोहित शर्मा ने शानदार शुरुआत दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 88 बॉल पर 87 रन की पार्टनरशिप की। भारत को पहला झटका 14.4 ओवर में शिखर धवन के रूप में लगा। उन्हें मशरफे मुर्तजा की बॉल पर मोसदेक हुसैन ने कैच कर लिया। धवन 34 बॉल पर 46 रन बनाकर आउट हुए। जिसमें उन्होंने 7 चौके और 1 सिक्स भी लगाया।
चैम्पियंस ट्रॉफी में रोहित ने लगाईं पहली सेन्चुरी
- मैच में रोहित शर्मा ने शानदार बैटिंग करते हुए चैम्पियंस ट्रॉफी में अपनी पहली सेन्चुरी लगाई। उन्होंने अपने 100 रन 111 बॉल पर पूरे किए।
- ये उनके वनडे करियर की 11वीं और बांग्लादेश के खिलाफ दूसरी सेन्चुरी रही। उन्होंने अपने 50 रन 57 बॉल पर पूरे किए थे।
- शिखर धवन चैम्पियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट की हिस्ट्री में भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बैट्समैन बन गए हैं। उन्होंने पूर्व कप्तान सौरव गांगुली का रिकॉर्ड तोड़ा।
- गांगुली ने इस टूर्नामेंट में 11 इनिंग्स में 665 रन बनाए थे। वहीं शिखर धवन 9 इनिंग्स के दौरान 680 रन बना चुके हैं।
- इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में क्रिस गेल टॉप पर हैं, जिन्होंने 791 रन बनाए हैं। वहीं धवन इस लिस्ट में चौथे नंबर पर पहुंच गए हैं। धवन से आगे अब कुमार संगाकारा हैं, जिनके नाम 683 रन हैं।
- मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शानदार बैटिंग करते हुए फिफ्टी लगाई। उन्होंने अपने 50 रन 42 बॉल पर पूरे किए।
- ये उनके करियर की 42वीं और बांग्लादेश के खिलाफ तीसरी फिफ्टी रही। इसके अलावा चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 में ये उनकी तीसरी फिफ्टी है।


ऐसी रही थी बांग्लादेश की इनिंग
- टॉस हारकर पहले खेलने उतरी बांग्लादेश की शुरुआत अच्छी रही और पहले ही ओवर में एक विकेट गिर गया। इसके बाद 31 रन तक पहुंचते-पहुंचते दूसरा विकेट भी गिर गया।
- तीसरे विकेट के लिए तमीम इकबाल और मुश्फिकुर रहीम के बीच 123 रन की पार्टनरशिप हुई। जो कि मैच की सबसे बड़ी पार्टनरशिप रही।
- इसके बाद थोड़ी-थोड़ी देर में लगातार विकेट गिरते रहे और बांग्लादेश की टीम 7 विकेट पर 264 रन ही बना सकी।
- बांग्लादेश के लिए तमीम इकबाल ने 70, मुश्फिकुर रहीम ने 61, मशरफे मुर्तजा ने 30*, मेहमुदुल्लाह ने 21 और सब्बीर रहमान ने 19 रन बनाए।
- भारत की ओर से केदार जाधव सबसे सफल बॉलर रहे, जिन्होंने 6 ओवर में 22 रन देकर 2 विकेट लिए। वहीं बुमराह ने 10 ओवर में 39 रन देकर 2 विकेट लिए। भुवनेश्वर ने 53 रन देकर 2 विकेट लिए।
ऐसे आउट हुए बांग्लादेश के प्लेयर्स
- टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी बांग्लादेश की शुरुआत खराब रही और पहले ओवर की आखिरी बॉल पर ही टीम को पहला झटका लग गया।
- भुवनेश्वर कुमार ने सौम्य सरकार (0) को बोल्ड कर दिया। इस वक्त टीम का स्कोर केवल 1 रन था।
- दूसरा विकेट भी भुवनेश्वर कुमार को मिला, जब 6.4 ओवर में उनकी बॉल पर सब्बीर रहमान (19) को रवींद्र जडेजा ने कैच कर लिया। इस वक्त स्कोर 31 रन था।
- तमीम इकबाल (70) के रूप में बांग्लादेश का तीसरा विकेट गिरा। 27.6 ओवर में केदार जाधव ने उन्हें बोल्ड कर दिया।
- चौथा विकेट शाकिब अल हसन (15) का रहा। जो 34.2 ओवर में 154 रन के स्कोर पर जडेजा की बॉल पर धोनी के हाथों कैच आउट हो गए।
- एक ओवर बाद ही केदार जाधव ने मुश्फिकुर रहीम (61) को आउट करके बांग्लादेश का पांचवां विकेट गिराया। केदार की बॉल पर विराट ने उनका कैच लिया।
- बांग्लादेश का छठा विकेट जसप्रीत बुमराह ने लिया। जब 42.3 ओवर में उन्होंने मोसदेक हुसैन (15) को अपनी ही बॉल पर कैच कर लिया। आउट होने से पहले उन्होंने मेहमुदुल्लाह के साथ 39 रन की पार्टनरशिप की।
- सातवां विकेट मेहमुदुल्लाह (21) का रहा, जो 44.6 ओवर में बुमराह की बॉल पर बोल्ड हो गए। इस वक्त टीम का स्कोर 224 रन था।
तमीम इकबाल ने लगाई फिफ्टी
- मैच में बांग्लादेश की ओर से तमीम इकबाल ने जबरदस्त बैटिंग करते हुए शानदार फिफ्टी लगाई। वे 82 बॉल पर 70 रन बनाकर आउट हुए। अपनी इनिंग में उन्होंने 7 चौके और 1 सिक्स भी लगाया। तमीम ने अपने 50 रन 62 बॉल पर पूरे किए थे।
- ये तमीम के वनडे करियर की 38वीं फिफ्टी रही। वहीं भारत के खिलाफ 7वीं फिफ्टी है। आउट होने से पहले मुश्फिकुर रहीम के साथ मिलकर उन्होंने तीसरे विकेट के लिए 123 रन की पार्टनरशिप भी की।
तमीम को मिला था जीवनदान
- 12.5 ओवर में बांग्लादेशी बैट्समैन तमीम इकबाल को एक जीवनदान भी मिला था। जब पंड्या ने नो-बॉल पर उन्हें बोल्ड कर दिया था। उस वक्त वे केवल 17 रन पर बैटिंग कर रहे थे।
61 बनाकर आउट हुए मुश्फिकुर रहीम
- मुश्फिकुर ने भी मैच में शानदार फिफ्टी लगाई। वे 85 बॉल पर 61 रन बनाकर आउट हुए। जिसमें उन्होंने 4 चौके भी लगाए।
- ये उनके वनडे करियर की 26वीं और भारत के खिलाफ तीसरी फिफ्टी रही। उन्होंने अपने 50 रन 61 बॉल पर पूरे किए थे।
 


Tags:
CRCKET
comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।