कुष्ठ रोगियों को जागरूक करेंगे बच्चे, क्विज प्रतियोगिता में स्नेहा अव्वल

By: jhansitimes.com
Feb 13 2018 05:57 pm
133

झाँसी। दतिया गेट बाहर स्थित डॉ. केजी कॉन्वेंट जूनियर हाई स्कूल में मंगलवार को कुष्ठ जागरूकता क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में छठवीं कक्षा की स्नेहा त्रिपाठी ने पहला स्थान प्राप्त किया। विद्यालय की छठवीं से  नौवीं तक के कुल 47 छात्र-छात्राओं ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया।   

स्पर्श कुष्ठ जागरूकता अभियान के अंतर्गत जनपद के सभी सरकारी और मान्यता प्राप्त स्कूलों में 30 जनवरी से 13 फरवरी तक क्विज प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया था। इसके तहत अंतिम दिन तक 16 क्विज का आयोजन सफलता पूर्वक किया जा चुका है। इसी श्रेणी में केजी कॉन्वेंट में भी प्रतियोगिता आयोजित की गयी। प्रतियोगिता के पूर्व सभी बच्चों को कुष्ठ के बारे में सामान्य जानकारी दी गयी। क्विज प्रश्नपत्र में 20 सवाल पूछे गए। इस प्रतियोगिता में 20 में से 20 अंक प्राप्त करने वाली छठवीं की स्नेहा ने पहला स्थान हासिल किया। दूसरा स्थान नौवीं के यश त्रिपाठी को एवं नौवीं के ही प्रवीन सेन को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ। इसके बाद तीनों विजेताओं को पुरस्कार के रूप में घड़ी दी गयी।

क्विज की विजेता स्नेहा ने बताया कि इस प्रतियोगिता के माध्यम से हमें कुष्ठ रोग के बारे में जानकारी प्राप्त हुई। इससे पहले हम इस रोग के बारे में नहीं जानते थे। अब हम इसके बारे में लोगों को बता सकते हैं। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग कुष्ठ के बारे में जागरूक हो सकें।  नौवीं के प्रवीन ने बताया कि जब भी हमे किसी के शरीर में दाग धब्बे दिखेंगे तो हम लोगों को बिना घबराते हुए शीघ्र उपचार की सलाह देंगे। इस प्रकार से हम लोगों का मुख्य काम है कि जब भी हमें इस प्रकार के मरीज मिलेंगे तो हम उनको सरकारी अस्पताल ले जायेंगे। जहाँ उनको नि:शुल्क दवा एमडीटी उपलब्ध करायी जाती है। प्रधानाचार्य देवेन्द्र खरे का कहना है कि इस प्रतियोगिता के माध्यम से बच्चों को कुष्ठ रोग के बारे में जागरुक किया गया, ताकि वे इसका संदेश ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचा सकें। 

कुष्ठ विभाग के नॉन मेडिकल असिस्टेंट विनोद मौर्या ने बच्चों को निर्देश देते हुए बताया कि अगर कहीं भी रिश्तेदारी, गली, मोहल्ले आदि जगहों पर लोगों में इस तरीके के लक्षण दिखाई देते हो तो आप उनको बताईये कि घबराने की कोई बात नहीं है। यदि आप शीघ्र ही इसका उपचार कराएँगे तो आगे आपको परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। उनको बताएं कि किसी भी सरकारी अस्पताल में जाकर  वहां नि:शुल्क दवा प्राप्त कर सकते है। 


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।