खासा आकर्षित करेगी दुनिया की सबसे महंगी SUV कर्लमन किंग, कीमत जानकर रह जाएंगे हैरान

By: jhansitimes.com
Mar 27 2018 09:14 am
677

SUV खरीदने का प्लान तो हर कोई बना सकता है लेकिन इस SUV को खरीदने के लिए इतनी रकम की ज़रूरत है कि उतने में तो एक बेहतरीन बिज़नेस शुरू किया जा सकता है. लेकिन अगर आप कोई शानदार और बेहद लग्ज़री कार खरीदने का सोच रहे हैं तो ये कार आपको खासा आकर्षित करेगी जो लैंबॉर्गिनी उरुस से भी महंगी है. कार्लमन किंग नाम की यह SUV दुनिया की सबसे महंगी SUV बन गई है जिसे आईएटी नामक कंपनी ने बनाया है, और इसे बनाने के लिए यूरोप के 1800 लागों की टीम ने काम किया है. कंपनी का कहना है कि दुनियाभर में बेचने के लिए हमने कार्लमन किंग की सिर्फ 12 यूनिट ही बनाई हैं और सभी कारों के पहले ही बुक हो जाने और बिक जाने की स्थिति में क्या करना होगा ये नहीं कहा जा सकता.

ये कार आपको खासा आकर्षित करेगी जो लैंबॉर्गिनी उरुस से भी महंगी है

 कार्लमन किंग SUV को फोर्ड F-550 प्लैटफॉर्म पर बनाया गया है और इसका वज़न 4500 किग्रा है. अगर आप इस SUV के बुलटप्रूफ बनवाना चाहते हैं तो कार का वज़न बढ़कर 6000 किग्रा हो जाता है. यह लंबाई में लगभग 6 मीटर की बड़े आकार की SUV है और कंपनी ने इसे बेहद दमदार 6.8-लीटर V8 इंजन से लैस किया है जो फोर्ड F-550 से लिया गया है. यह इंजन 400 bhp पावर जनरेट करने की क्षमता रखता है. कार्लमन किंग की टॉप स्पीड 140 किमी/घंटा है और कंपनी ने दुबई इंटरनेशनल मोटर शो 2017 में इस SUV को पहली बार शोकेस किया था. कंपनी ने इस SUV की कीमत 1.56 मिलियन पाउंड यानी लगभग 14.33 करोड़ रुपए रखी है.

फीचर्स की बात करें तो कार्लमन किंग में हाई-फाई साउंड के साथ अल्ट्रा 4K टेलिविजन सेट, प्राइवेट सेफबॉक्स, फोन प्रोजैक्शन सिस्टम के साथ वैकल्पिक सेटेलाइट टीवी और सेटेलाइट फोन दिया गया है. इसके साथ ही SUV में कॉफी मशीन, इलैक्ट्रिक टेबल, अगले और पिछले हिस्से में स्वतंत्र एसी के साथ इनडोर निऑन लाइट जैसे और भी कई फीचर्स मुहैया कराए गए हैं. कार के सभी कम्फर्ट फीचर्स को मोबाइल एप द्वारा कंट्रोल किया जा सकता है. कार काफी बड़े आकार की है, ऐसे में इसके अंदर टी पार्टी करने के लिए पर्याप्त जगह है. कार के एक्सटीरियर को स्टील और कार्बन फाइबर से बनाया गया है.


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।