चुनाव आयोग: 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान, 11 दिसंबर को काउंटिंग

By: jhansitimes.com
Oct 06 2018 05:40 pm
304

चुनाव आयोग ने आज मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में विधानसभा चुनावों के लिए तारीखों की घोषणा कर दी है.  मध्य प्रदेश में 28 नवंबर, राजस्थान और तेलंगाना में 7 दिसंबर, छत्तीसगढ़ में 13 नवंबर और 20 नवंबर और मिजोर में 28 नवंबर को चुनाव होगा. हालांकि, सभी राज्यों के नतीजे 11 दिसंबर को ही आएंगे. तेलंगाना में भी विधानसभा चुनावों के लिये तारीखों की घोषणा किये जाने की प्रबल संभावना थी. आयोग के सूत्रों ने कहा था कि समूची चुनावी प्रक्रिया दिसंबर के पहले हफ्ते तक खत्म हो जाएगी. सूत्रों ने खबर दी थी कि छत्तीसगढ़ में चुनाव दो चरणों में होने की उम्मीद है जबकि बाकी जगहों पर एक दौर में चुनाव हो सकते हैं. आज चुनाव आयोग के ऐलान के बाद सभी चुनावी राज्यों में  आचार संहिता लागू हो गई. बहरहाल, मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्यों में चुनावी माहौल पहले से ही गर्म है. राजनीतिक दल मतदाताओं को लुभाने और जोड़-तोड़ में जुटे हुए हैं. चुनावी सभाएं और रैलियां आदि आयोजित की जा रही हैं. 

कर्नाटक के शिमोगा, बेल्लारी, और मांड्या में 3 नवंबर को होंगे उपचुनाव.

- चुनाव आयुक्त ने कहा कि हमारे ऊपर किसी भी प्रकार का कोई दबाव नहीं है. हम सोशल मीडिया की निगरानी करेंगे  और लोकसभा से पहले सोशल मीडिया की निगरानी के लिए पूरा तंत्र तैयार हो जाएगा. 

- मध्य प्रदेश , राजस्थान, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना विधानसभा चुनाव की काउंटिंग 11 दिसंबर को होगी.

- 11 दिसंबर को वोटों की गिनती

-चुनाव आयोग ने पाचों राज्यों में होने वाले चुनाव की तारीखों का ऐलान किया-

मध्य प्रदेश: 28 नवंबर को मतदान

राजस्थान- 7 दिसंबर को मतदान

छत्तीसगढ़- 12 नवबंर को पहला चरण और 20 नवंबर को दूसरा चरण

तेलंगाना - 7 दिसंबर को मतदान

मिजोरम - 28 नवंबर को मतदान

- मिजोरम में 28 नवंबर को वोटिंग. मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को वोटिंग. मध्य प्रदेश में एक दौर में ही मतदान होगा. 

-  चुनाव आयोग ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पहले चरण की वोटिंग 12 नवंबर को होगी. 

- चुनाव आयोग ने कहा कि तेलंगाना में अभी चुनाव नहीं होंगे. तेलंगाना में 12 अक्टूबर के बाद चुनाव की तारीखों का ऐलान होगा. 

चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने यह भी कहा कि आज से ही तत्काल प्रभाव से चारों राज्यों में आचार संहिता लागू हो जाएगी. 

-  चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि  मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में 15 दिसंबर के पहले चुनाव करा लिए जाएंगे. 

- चुनाव आयोग ने कहा - MP, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में होंगे एक साथ विधानसभा चुनाव, तेलंगाना में मतदादा सूची प्रकाशन 12 को 

- चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू हो चुकी है, पांच राज्यो में होने वाले चुनाव की तारीखों का ऐलान आज हो सकता है

बता दें कि इससे पहले चुनाव आयोग आज यानी शनिवार को मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मिजोरम विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा करने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाला है. पहले खबर थी कि चुनाव आयोग प्रेस कॉन्फ्रेंस का समय दोपहर 12:30 बजे करेगा, मगर बाद में इस समय को आगे बढ़ा दिया और अब चुनाव आयोग दोपहर 3.00 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुनाव की तारीखों का ऐलान करेगा. मगर इसी घटना को लेकर कांग्रेस ने चुनाव आयोग की स्वतंत्रता पर सवाल उठाया है. आगामी चुनाव तारीखों के ऐलान के समय में फेरबदल पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं.  सुरजेवाला का मानना है कि यह फेरबदल पीएम मोदी के कार्यक्रम की वजह से किया गया है. दरअसल, आज राजस्थान में पीएम मोदी की एक जनसभा है. पीएम मोदी राजस्थान के अजमेर में एक रैली को संबोधित करने वाले हैं. राजस्थान विधानसभा चुनाव से पूर्व पीएम मोदी की होने वाली इस रैली को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट में लिखा कि 'चुनाव आयोग ने पांच राज्यों की चुनावी तारीख के लिए 12.30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी. राजस्थान के अजमेर में दोपहर 1 बजे पीएम मोदी की रैली है. चुनाव आयोग ने अचानक वक्त बदल दिया है और प्रेस कॉन्फ्रेंस 3 बजे होगी. चुनाव आयोग की स्वतंत्रता?' हालांकि, चुनाव आयोग की ओर से अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि आखिर चुनाव तारीखों के ऐलान के समय में यह बदलाव क्यों किया गया.


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।