कार में हुए इंटीमेट तो कभी खेत में, अकेले में देखें ये Adult सीन.. भूल न पाएंगे

By: jhansitimes.com
Feb 06 2018 10:31 am
355

कई ऐसी फिल्में हैं जो अपने कंटेंट और स्टोरीज से ज्यादा बोल्ड सेक्स सीन्स को लेकर जानी जाती हैं। वहीं इन फिल्मों के सेक्स सीन भी कुछ ऐसे ही हैं कि मशहूर होने ही थे। वजह बोल्डनेस तो है ही साथ ही इन सेक्स सीन्स की लोकेशन्स भी फैंटसी क्रिएट करने वाली थीं। जिसके चलते ये सीन तो मशहूर हुए ही साथ ही फिल्म भी। 

बॉलीवुड की कई फिल्में ऐसी हैं, जिनमें सेक्स सीन सिर्फ बेडरूम में ही नहीं शूट किए गए हैं। बल्कि कई ऐसी लोकेशन पर शूट किए गए हैं, जिनके बारे में कई लोग फैंटसी रखते हैं। वहीं इस सीन में एक्टर्स की बोल्डनेस का तड़का लगाकर ऐसे पेश किया गया कि लोग आज भी इन सीन्स को भूल नहीं पाए।

कई सुपरहिट फिल्मों के ये सीन एक बेंचमार्क बन चुके हैं। बॉलीवुड की फिल्मों के ऐसे ही कुछ सेक्स सीन जो बेडरूम नहीं बल्कि किचन या किसी खूबसूरत लोकेशन पर शूट किए गए हैं।

बेटा: फिल्म बेटा अनिल कपूर और माधुरी दीक्षित दोनों को फ़ार्म (खेत) में इंटीमेट होते देखा गया है।

शुद्ध देशी रोमांस: फिल्म शुद्ध देशी रोमांस में सुशांत सिंह राजपूत और परिणीति चोपड़ा एक सीन में दोनों किचन में इंटीमेट होते है।

रेस: फिल्म रेस में सैफ अली खान और बिपाशा बसु हॉर्स स्टेबल में इंटीमेट होते है।

डर्टी पिक्चर: फिल्म डर्टी पिक्चर में नसीरुद्दीन शाह और विद्या बालन ने एक कार के अंदर इंटीमेट सीन दिया है।

जांबाज: फिल्म जांबाज में अनिल कपूर और डिंपल कपाड़िया के बीच घुड़साल (हॉर्स स्टेबल) में सेक्स सीन फिल्माया गया है।

जिस्म: फिल्म जिस्म में जॉन अब्राहम और बिपाशा बसु के बीच दूसरी कई एग्जोटिक लोकेशंस पर दोनों की इंटीमेट केमिस्ट्री देखने को मिलती है। इस फिल्म का सेक्स सीन खुले में झरने के किनारे शूट किया गया था।

रॉय: फिल्म रॉय में अर्जुन रामपाल और जैकलीन फर्नांडीज एक सीन में दोनों पूल में इंटीमेट होते दिखाई देते हैं।

मर्डर: फिल्म मर्डर में इमरान हाशमी और मल्लिका शेरावत घर के टैरेस में इंटीमेट होते नजर आते हैं।

सॉरी भाई: फिल्म सॉरी भाई में चित्रांगदा सिंह और शरमन जोशी को एक शॉपिंग मॉल के चेंजिंग रूम में इंटीमेट होते देखा जाता है।

ब्लड मनी: फिल्म ब्लड मनी में कुणाल खेमू और मिया उएदा ऑफिस के अंदर कुणाल और मिया को इंटीमेट होते दिखाया गया है।


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।