होटल के कमरों में 10 जोड़ी लड़के-लड़कियां भागते दिखे कपडे पहनकर , देखकर पुलिस के उड़े होश

By: jhansitimes.com
Sep 13 2017 08:53 am
2547

गोरखपुर: कॉलेज में पढ़ने वाले युवक और युवतियां होटल के कमरों में ऐसे आपत्तिजनक हालत में मिलेंगे, ऐसा किसी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा। जिस वक्त पुलिस ने होटल के कमरों में छापा मारा तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। पढ़ें पुलिस ने कहां पर मारा छापा। 

घटना उत्तर प्रदेश के गोरखपुर की है।  रेलवे स्टेशन रोड स्थित रॉयल गेस्ट हाउस और आनंद गेस्ट हाउस पर क्राइम ब्रांच की टीम ने छापेमारी की। महिला पुलिस के साथ होटलों के रूम की जांच की गई तो पढ़ाई के लिए कॉलेज की जगह होटल में पहुंचे युवक युवती पकड़े गए। पुलिस ने दस जोड़ों को पकड़ा है। 

वहीं एक होटल से अवैध रायफल भी बरामद हुई।  पुलिस ने युवतियों को उनके घरवालों को बुलाकर सुपुर्द कर दिया। उधर, कैंट थाने में युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया  गया है। पुलिस दोनों होटल के मालिकों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। एसपी क्राइम आलोक शर्मा का कहना है कि होटल मालिकों की संलिप्ता पाई गई तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी।

मंगलवार को होटल में सेक्स रैकेट चलाए जाने की सूचना पर एसपी क्राइम के नेतृत्व में पुलिस टीम मौके पर पहुंची। पुलिस के पहुंचते ही होटलों में हड़कंप मच गया। दस जोड़ों को कमरे में आपत्तिजनक हालत में मिलने पर पुलिस के भी होश उड़ गए। पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया। 

लड़कियों को मुंह बंधवाकर पुलिस लाइंस लाया गया और फिर महिला थाने लाकर उनके घर वालों को बुलाकर सुपुर्द किया गया। पुलिस के पहुंचने पर कई जोड़े भागने की भी कोशिश करने लगे लेकिन तैयारी सी गई पुलिस से कोई बच नहीं पाया। पुलिस ने आनंद गेस्ट हाउस से अवैध रायफल भी बरामद की। रॉयल के मालिक राजेश चौबे, आनंद गेस्ट हाउस के मालिक सुरेंद्र त्रिपाठी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान एक युवती के पास से मिले महंगे मोबाइल को लेकर सभी दंग रह गए। उसके पास से मिले मोबाइल की कीमत 80 हजार रुपये है। उसके घरवालों को मोबाइल की भी जानकारी दी गई।

एक घंटे का वसूलते है 15 सौ रुपये

होटल में लड़का-लड़की के आने पर होटल मालिक जबरदस्त चार्ज भी लेते है। एक घंटे का 15 सौ रुपये तक वसूला जाता है। वे भी बिना नाम पते के दाखिल हो सकें इसके लिए आसानी से रकम दे देते हैं।

कॉलेज के बहाने होटल पहुंचती है युवतियां

कॉलेज के बहाने युवतियां होटल में दाखिल हो जाती हैं। चेहरे को ढक कर वह अपने दोस्त के साथ जाती हैं, और फिर कॉलेज खत्म होने के समय घर पहुंच जाती हैं जिसकी वजह से घरवालों को भी उनके करतूत की जानकारी नहीं हो पाती है।

 वायरल हुई थी फोटो

होटल में युगल के जाने की सूचना व फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। पिछले कुछ महीने से लोग फोटो को वायरल कर कार्रवाई की सिफारिश कर रहे थे। मामला एसएसपी के संज्ञान में आने के बाद कार्रवाई की गई। पुलिस टीम ने सूचना के आधार पर कार्रवाई कर दस युवकों को पकड़ा है। युवतियों को पुलिस ने घरवालों के सुपुर्द कर दिया है। कार्रवाई की जा रही है।


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।