सरकार सो रही है! झांसी में एनजीटी के आदेशों का उड़ रहा मजाक, हो रहा मशीनों से खनन, देखें PHOTOS

सरकार सो रही है! झांसी में एनजीटी के ...

झांसी। जिस भाजपा को कभी अनाधिकृत कामों और अवैध बालू खनन को लेकर हल्ला बोलते ...
आपरेशन के बाद भूलने की बीमारी है खतरनाक, अनदेखा किया तो...

आपरेशन के बाद भूलने की बीमारी है खतरनाक, ...

(रिपोर्ट, पी.के श्रीवास्तव, विशेष संवाददाता )नई दिल्ली। डिलिरीअम यानी मानसिक ...
...इसलिए शराब के नशे में  लोग बोलने लगते हैं फर्राटेदार अंग्रेजी

...इसलिए शराब के नशे में लोग बोलने लगते ...

आखिर ऐसा क्यों होता है कि नशे में धुत होने के बाद लोगों के बोलचाल के साथ व्यवहार ...
आरक्षण के बाबजूद नगर पालिका चिरगांव पर राजशाही का कब्जा, जीतते हैं किले के डमी

आरक्षण के बाबजूद नगर पालिका चिरगांव ...

(रिपोर्ट, अजय झा ) झांसी। कहने को राजशाही प्रथा खत्म हो गई है, लोगों को समान नजर ...
बौद्ध धम्म प्रचार के लिए करें संघ दान, बोले- अशोक बौद्ध

बौद्ध धम्म प्रचार के लिए करें संघ दान, ...

(अशोक बौद्ध सामाजिक कार्यकर्ता) किसी भी धर्म संस्कृति को अधिक समय तक जिंदा ...
बुंदेलखंड: पोकलैण्ड मशीनों की आवाज से गूंजती रातें,सत्ताधारियों के संरक्षण में धड़ल्ले से हो रहा

बुंदेलखंड: पोकलैण्ड मशीनों की आवाज ...

झांसी । उत्तर प्रदेश में किसी भी राजनैतिक दल की सरकार रहे लेकिन बुंदेलखंड झांसी ...
बहुजन नायक कांशीराम: सुख छोड़, दलितों-पिछड़ों को एकजुट करने के मिशन में कुर्बान कर दी जिंदगी

बहुजन नायक कांशीराम: सुख छोड़, दलितों-पिछड़ों ...

झांसी। अंबेडकर के बाद भारतीय समाज में कांशी राम ने दलितों को एक सशक्त बुलंद ...
अभी जानें...कब दिखेगा करवा चौथ का आपके शहर में चांद, तिथि एवं पूजा का शुभ मुहूर्त

अभी जानें...कब दिखेगा करवा चौथ का आपके ...

कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को रखा जाने वाला उत्तर भारत का विशेष पारंपरिक ...
इतिहास के सागर से देवेन्द्र सिंह की रिपोर्ट, बीरबल को बेइज्जत होने से बचाने के लिए अकबर ने क्या कि

इतिहास के सागर से देवेन्द्र सिंह की ...

बीरबल अपने जालौन जनपद के ही मूल निवासी थे | अपनी योग्यता से अकबर के दरबार में पहुच ...
यूपी: दशहरा पर्व के दिन 25000 दलितों ने अपनाया बौद्ध धर्म, हिन्दू धर्म को कहा अलविदा

यूपी: दशहरा पर्व के दिन 25000 दलितों ने ...

कानपुर।  अशोक विजयदशमी के मौके पर कानपुर देहात के पुखरायां कस्बे में 25000 ...

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।