विस्तार से पढ़िए, क्या है हवाला और कैसे होता है इसका कारोबार? बुंदेलखंड में भी पसारे इस कारोबार ने प

विस्तार से पढ़िए, क्या है हवाला और कैसे ...

सभी के मन मे जिज्ञासा उठना स्वाभाविक है कि आखिर हवाला क्या है और कैसे होता है ...
प्राकृतिक प्रकोप के बावजूद स्वर्गाश्रम के कुण्ड नहीं होते कभी खाली, पानी में रोगों से लडऩे की है

प्राकृतिक प्रकोप के बावजूद स्वर्गाश्रम ...

(न्यूज एडिटर, मदन यादव के साथ अंकित की ख़ास रिपोर्ट)  झाँसी मुख्यालय से महज 25 किमी ...
 महाशिवरात्रि के व्रत में करें इन चीजों का सेवन...नहीं आएगी कमज़ोरी

महाशिवरात्रि के व्रत में करें इन चीजों ...

महा शिवरात्रि का पर्व का व्रत बहुत ही फलदायी माना जाता है जो भी पूरी आस्था से ...
जान लें- क्‍यों शिव के रुप में पूजते है, शिवलिंग को?

जान लें- क्‍यों शिव के रुप में पूजते ...

भगवान शिव की पूजा हम लिंग के रूप में ही क्यों करते हैं, यहाँ तक कि मंदिरों में भी ...
कुदरत का करिश्मा: झारखंड में छत्तीस फीट ऊंचा पपीते का पेड़

कुदरत का करिश्मा: झारखंड में छत्तीस ...

कुदरत भी कभी-कभी ऐसे अजूबे दिखा देती है, जो बिरले होते हैं। ऐसे में लोगों के पास ...
 कपड़े नहीं, अपने पालतू जानवरों से छुपाती है ये लड़की अपना शरीर

कपड़े नहीं, अपने पालतू जानवरों से छुपाती ...

दुनिया में करने को कुछ कम काम नहीं हैं, लेकिन आजकल की मॉडल और आम लड़कियां सोशल साइट्स ...
यहाँ सजता है पुरुषों के जिस्म का बाजार,रात होते ही महिलायें लगाती हैं बोली !

यहाँ सजता है पुरुषों के जिस्म का बाजार,रात ...

आपने वेश्याओं के बारे में तो सुना ही होगा और रेड लाइट ऐरिया के बारे में भी जानते ...
कुछ तस्वीरें, किंग कोबरा और अजगर के बीच हुई खूनी भिड़ंत, पढ़ लीजिये इस लड़ाई का अंत में क्या हुआ हश्र

कुछ तस्वीरें, किंग कोबरा और अजगर के ...

आपने कभी दो सांपों की लड़ाई देखी है? अगर हां तो आप जानते होंगे की उनकी लड़ाई किस ...
अबूझ पहेली बना इस चंदेलकालीन शिव मंदिर का रहस्य, जानिए क्या है खास

अबूझ पहेली बना इस चंदेलकालीन शिव मंदिर ...

हमीरपुर। बुंदेलखंड के जनपद हमीरपुर के सरीला नगर का शल्लेश्वर मंदिर लोगों ...
लड़की जो न्यूड घूम रही है.... दुनिया में करने को बहुत कुछ

लड़की जो न्यूड घूम रही है.... दुनिया में ...

कुछ लोग ऑफिस में ८ घंटे की नौकरी करके भी वो नहीं कर पाते जो लोग महज़ चंद पलों में ...

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।