बुंदेलखंड में ये नदियां बरसात के दिनों में उगलती हैं सोना, रहता है बाढ़ का इंतजार

बुंदेलखंड में ये नदियां बरसात के दिनों ...

प्रति वर्ष मानसून का इंतजार सबको रहता है ताकि भीषण गर्मी से राहत मिल सके|  लेकिन ...
जहां दूल्हे की होती है विदाई, ससुराल में करते हैं चूल्हा-चौका

जहां दूल्हे की होती है विदाई, ससुराल ...

आपने शादी के बाद दुल्हन को अपने पति के घर विदा होते हुए कई बार देखा होगा, लेकिन ...
सेक्स लेता है इन सांपों की जान, एक ही मादा पर टूट पड़ते हैं सैकड़ों सांप

सेक्स लेता है इन सांपों की जान, एक ही ...

एक इंसान के लिए सेक्स (सहवास)  हमारे लिए जरूरी शारीरिक क्रिया है  यह किसी ...
इस भारतीय डाक्टर ने ढूंढा इमरजेंसी में कम खर्च का तरीका

इस भारतीय डाक्टर ने ढूंढा इमरजेंसी ...

(REPORT-P.K SRIWASTAV) अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के डाक्टर आदित्य ने इमजरेंसी में आने ...
तस्वीरों संग देखें, जब सांप ने मुंह से उगला दूसरा सांप, वो भी जिंदा, देखने की हिम्‍मत करेंगे आप?

तस्वीरों संग देखें, जब सांप ने मुंह ...

एक उदाहरण है कि कुदरत कितनी बेरहम हो सकती है, एक बात और, इस वीडियो को देखकर शर्तिया ...
इन खासियतों को जानकर आप भी शराबी हो जायेंगे...

इन खासियतों को जानकर आप भी शराबी हो ...

समाज में शराब को हमेशा ख़राब ही माना जाता है और मानें भी क्यों न? कोई नशे में धुत ...
झाँसी:जरूरत पानी की, मासूम भी तलाश रहे बर्तन लेकर पानी

झाँसी:जरूरत पानी की, मासूम भी तलाश रहे ...

झांसी। बुंदेलखंड में जहां इस समय तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया हैं, वहीं ...
पढ़िए...रमजान के पाक महीने से जुड़ी इन मान्यताओं के बारे में

पढ़िए...रमजान के पाक महीने से जुड़ी इन ...

रमजान का पाक महीना शुरू हो गया है| रमजान का चांद दिखने के साथ ही मुकद्दस का रमजान ...
पचनदा पर गूंजा चंबल का बागी राग, जगम्मनपुर में जुटी जन-संसद

पचनदा पर गूंजा चंबल का बागी राग, जगम्मनपुर ...

जालौन (चबल से) : क्रांतितीर्थ पांच नदियों के संगम तट पचनदा के तट पर हुई जन संसद। जंग ...
 ये है बियर योगा,  खासियत जानकर आप भी ये योगा करना चाहेंगे !

ये है बियर योगा, खासियत जानकर आप भी ...

जहां अधिकांश लोग बीयर पीने के शौकीन होते हैं तो वहीं कई लोग ऐसे भी होते हैं जो ...

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।