सीएम, योगी जी झांसी में  कटिया डालकर सरकारी स्कूलों में जलाई जा रही बिजली

सीएम, योगी जी झांसी में कटिया डालकर ...

झांसी। एक तरफ जहां सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता में सुधार के लिए प्रदेश सरकार ...
इस IAS को कांग्रेसी विधायक से हुआ प्यार , लव स्टोरी अब पहुचेंगी शादी के अंजाम तक

इस IAS को कांग्रेसी विधायक से हुआ प्यार ...

जल्द ही शादी के बंधन में बंधने जा रही हैं केरल की लेडी IAS डॉ. दिव्या एस अय्यर और कांग्रेसी ...
महोबा: सिद्धेश्वर धाम की शरण में जाने से लोगों के मनोरथ होते है पूर्ण

महोबा: सिद्धेश्वर धाम की शरण में जाने ...

(रिपोर्ट सैय्यद तामीर उद्दीन) महोबा । महोबा वीर आल्हा-ऊदल की वीरता के लिए जाना ...
बेटी के लिए इस मजदूर पिता किया ऐसा संघर्ष जिसे जानकर हो जायेंगे परेशान

बेटी के लिए इस मजदूर पिता किया ऐसा संघर्ष ...

नई दिल्ली:  "मैंने अपने बच्चों को कभी नहीं बताया कि मैं क्या करता हूं. मैंने ...
हमीरपुर में तालाब, नहरें सूखी बेजुबान पानी के लिये हलकान

हमीरपुर में तालाब, नहरें सूखी बेजुबान ...

गर्मी इस समय पूरे शबाब पर है। लोगो के घर से बाहर निकलते ही हलक सूखने लगते है। बेजुबान ...
झाँसी: सारे माननीय साहबों की आँख से ओझल है, इन बेघरों का दर्द

झाँसी: सारे माननीय साहबों की आँख से ...

झांसी। यह है झांसी जनपद का सबसे वीआईपी इलाका। जहां दर्जनों परिवार खुले आसमान ...
तस्वीरों के साथ देंखें अधंकार में बचपन, झांसी रेलवे स्टेशन पर कराई जा रही बाल मजदूरी

तस्वीरों के साथ देंखें अधंकार में बचपन, ...

झांसी । इन बच्चों का यह कैसा नसीब है। जिस उम्र में उन्हें खेलना चाहिए, उसमें वे ...
खाकी में भी होती है इंसानियत, मिसाल पेश कर रहा बुन्देलखण्ड का यह थानेदार

खाकी में भी होती है इंसानियत, मिसाल ...

बेजुबान पशु-पक्षियों में भी जान होती है। वे भी प्यार के भूखे होते है। इसीलिए अपनी ...
आखिर क्यों अपनाया था पान सिंह तोमर ने बीहड़ का रास्ता, बता रहे धर्मविजय की यह रिपोर्ट

आखिर क्यों अपनाया था पान सिंह तोमर ...

झांसी। एक ऐसा शख्स जो सेना में रह कर कई मेडल प्राप्त किया हो और स्पोट्र्स में ...
बुंदेलखंड क्षेत्र को पीने का पानी भी नही दे पा रही योगी सरकार , बजट के अभाव में रीबोर नही हो पा रहे ह

बुंदेलखंड क्षेत्र को पीने का पानी भी ...

सुरेश खरकया, उरई(जालौन)। ककरीले पथरीले बुंदेलखंड क्षेत्र में पाराा चढ़ने से ...

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।