GOOD WORK: किसान के पुत्र के अपहरण कर्ता पकड़े, फिरौती की रकम हुई बरामद

By: jhansitimes.com
Mar 13 2018 06:17 pm
814

(रिपोर्ट-नितिन गिरि/कृष्णा)  ललितपुर। बीते मंगलवार तालबेहट कोतवाली क्षेत्रांतर्गत ग्राम कड़ेसरा कलां में सेवानिवृत्त रेलकर्मी के पुत्र का अपहरण कर पांच लाख रुपये की फिरौती लेकर छोडऩे का मामला प्रकाश में आया था। इस मामले में कोतवाली तालबेहट पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर अपहरणकर्ताओं की तलाश शुरू की थी। एसपी सलमानताज पाटील व एएसपी ए.के.विजेता ने जल्द खुलासे को लेकर सीओ तालबेहट को आदेश दिए थे। तालबेहट पुलिस ने सर्विलांस की मदद से घटना में शामिल छह  लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि मास्टर माइण्ड भागने में सफल रहा।

पुलिस लाइन सभागार में पत्रकारों को जानकारी देते हुये एसपी सलमानताज पाटील ने बताया कि 6 मार्च को ग्राम कड़ेसराकलां में रेल कर्मचारी रघुनाथ कुशवाहा ने सूचना दी थी कि उसके पुत्र पूरन कुशवाहा का कुछ लोगों ने स्कॉर्पियो गाड़ी में अपहरण कर लिया था और अपने पुत्र को उसने पांच लाख रुपये की फिरौती देकर छुड़ाया है। यह घटनाक्रम सुनकर पुलिस के होश फाख्ता हो गये। पीडि़त ने अगले दिन पुलिस पर प्रताडि़त करने का आरोप लगाया था। जिस पर पुलिस की ओर से जारी बयान में सिर्फ कड़ाई से पूछताछ किये जाने का मामला सामने आया था। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 342, 386 व 506 के तहत मामला दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी थी। सीओ तालबेहट के निर्देशन में तालबेहट पुलिस ने मेहरबान मंदिर के पास से घटना में शामिल छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि घटना का मास्टर माइण्ड जिला हापुड़ के जिला गढ़मुक्तेश्वर के कस्बा मीरा की रेती निवासी यामीन पुत्र बाबू खां भागने में फरार हो गया था। पकड़े गये आरोपियों के नाम एहसान पुत्र अख्तर अली, मुन्ने खां पुत्र मुंशी खां, दानिश पुत्र यामीन, मोमीन उर्फ गुड्डू पुत्र इस्लाम खां, इजराइल पुत्र अमल खां और ताहिर हुसैन पुत्र अमल खां बताये गये हैं। इनके पास से पुलिस ने 3 लाख 80 हजार रुपये व 2 मोटर साइकिलें भी बरामद की हैं।

एसपी ने बताया कि उक्त लोग पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हापुड़ जनपद के कस्बा गढ़मुक्तेश्वर के रहने वाले हैं। गिरोह बनाकर यह लोग अधिकांशत: रेलवे से चतुर्थ श्रेणी के सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों का विवरण एकत्र कर उनकी गांव में स्थित जमीन की लेबरिंग सस्ते दामों पर करने का बहाना करते हैं और उन्हें जाल में फांस कर बलपूर्वक पैसा एकत्र करते थे। पकड़े गये गिरोह के सदस्यों ने यह भी बताया कि यह बुन्देलखण्ड में कई अन्य लोगों को भी अपना शिकार बना चुके हैं।  अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार करने वाली टीम में कोतवाली तालबेहट प्रभारी एसएचओ शिवमोहन प्रसाद, निरीक्षक संजय कुमार, एसआई खेमचंद्र, एसओजी प्रभारी शशांक राजपूत, कां.संजय राजावत, प्रदीप कुमार, शफीक खां, शत्रुन्जय सिंह, राजवर, देवेन्द्र कुमार, जीतेन्द्र कुमार, बृजेश कुमार, जगदीश सिंह आदि शामिल रहे। पुलिस अधीक्षक ने गिरोह के सदस्यों को पकडऩे वाली टीम को 12 हजार रुपये का इनाम दिए जाने की घोषणा की है।


Tags:
lalitpur
comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।