एक नजर चना दाल लड्डू

एक नजर चना दाल लड्डू

 चने की दाल से बनी चीजें खाना पसंद करते हैं तो सिर्फ नमकीन चीजें ही क्यों, इससे ...
डबल चिन देखकर न हों परेशान, मुसीबत आसान कर देंगे ये फटाफट मेकअप ट्रिक्स...

डबल चिन देखकर न हों परेशान, मुसीबत आसान ...

चेहरे की खूबसूरती निखारने में तो मेकअप मदद करता ही है लेकिन क्या आप जानते हैं ...
विवाहित जोड़े के लिए ऐसा हो बेडरूम....

विवाहित जोड़े के लिए ऐसा हो बेडरूम.... ...

रिश्तों और मूड पर काफी असर डालता है  कमरे का इंटीरियर डिजाइन, इसलिए विवाहित ...
इतनी बियर पीने से होते कई फ़ायदे,  जानकर चौंक जायेंगे

इतनी बियर पीने से होते कई फ़ायदे, जानकर ...

आमतौर पर बियर पीना सेहत के लिए हानिकारक माना जाता है और सभी इस से दूर रहने की सलाह ...
... इसलिए होता है मां का दूध अमृत समान

...

यूं तो हर कोई जानता है कि मां का दूध एक बच्चे के लिए कितना ज्यादा लाभकारी और जरूरी ...
फोटो पर क्लिक कर जान लें, फलों को खाने का सही समय, नहीं पड़ेंगे बीमार

फोटो पर क्लिक कर जान लें, फलों को खाने ...

हम में से ज्यादातर लोग नियमित रूप से फलों का सेवन करते हैं, पर इसके बाद भी बीमार ...
 पढ़िए, BLACK TEA पीने से ये बीमारियां होतीं हैं दूर

पढ़िए, BLACK TEA पीने से ये बीमारियां होतीं ...

हर घर में दिन की शुरूआत होती है चाय की चुस्कियों के साथ | लोगो के लिए चाय ...
खाइये, भुने चने के साथ गुड़, मर्दों को मिलतें हैं ये 8 बेमिसाल फायदे

खाइये, भुने चने के साथ गुड़, मर्दों को ...

भूने चने खाने से सेहत को काफी फायदा होता है लेकिन जब इनके साथ गुड़ का भी सेवन करें ...
 पढ़िए, कितना खतरनाक है ओरल सेक्स, इस रिपोर्ट से हुआ चौकाने वाला खुलासा

पढ़िए, कितना खतरनाक है ओरल सेक्स, इस ...

 लोगों को ऐसा लगता है कि ओरल सेक्‍स सुरक्षित है क्‍योंकि इससे गर्भ ठहरने की ...
HAPPY Friendship Day 2017: ये है फ्रेंडशिप डे का इतिहास, दोस्ती आईना है सही-गलत का

HAPPY Friendship Day 2017: ये है फ्रेंडशिप डे का इतिहास, ...

कहावत है कि दोस्ती से बढ़कर दुनिया में कोई रिश्ता नहीं होता है| दोस्तो 'फ्रेंडशिप ...

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।