क्या आप जानते हैं, लड़कियों को ही क्यों बनाया जाता रिसेप्शनिस्ट

क्या आप जानते हैं, लड़कियों को ही क्यों ...

आपने आज तक जिस ऑफिस में भी काम किया है जब जगह रिसेप्शन पर एक सुंदर सी लड़की देखी ...
क्या सेक्स के दौरान दो कंडोम लगाना सुरक्षित है

क्या सेक्स के दौरान दो कंडोम लगाना ...

क्‍या आप सेक्‍स के दौरान एक्‍स्‍ट्रा प्रोटेक्‍शन के नाम पर दो कंडोम यूज ...
 देखिये हैरान कर देने वाला अंदाज, दुल्हन ने चोली और जीन्स में किया डांस

देखिये हैरान कर देने वाला अंदाज, दुल्हन ...

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक दुल्हन के वीडियो ने सनसनी मचा रखी है। दिल्ली की इस ...
...इसलिए कॉन्डम का इस्तेमाल करने से बचते हैं भारतीय, ये हैं 10 वजह !

...इसलिए कॉन्डम का इस्तेमाल करने से बचते ...

क्या आपने कभी सोचा है कि हमारे देश की आबादी इतनी ज्यादा क्यों है? नहीं तो आपको ...
पढ़ लीजिये, मूत्राशय में संक्रमण होने के लक्षण और बचने के उपाय

पढ़ लीजिये, मूत्राशय में संक्रमण होने ...

मूत्राशय अर्थात् यूरिनरी ब्लैडर हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। यह गुब्बारे ...
रात को नहाना बेहतर विकल्प, मिलते हैं इतने फायदे, पढ़कर-जान लीजिये

रात को नहाना बेहतर विकल्प, मिलते हैं ...

नहाना एक दैनिक क्रिया है, जिसे लोग सुबह के समय या काम पर निकलने से पहले करते हैं। ...
 चलिए जानते हैं विस्तार से, हसीन महिला क्यों बनती है किसी के ख्वाब का हिस्सा

चलिए जानते हैं विस्तार से, हसीन महिला ...

आज भी लोगों के लिए पहेली है सपना या ख्वाब , जिस  पर लगातार शोध जारी है लेकिन ...
5 घरेलू Tips अपनाकर बनायें काले होंठों को गुलाबी

5 घरेलू Tips अपनाकर बनायें काले होंठों ...

डस्की या सांवली त्वचा वालों के काले होंठ लोगों को ना दिखें, लेकिन गोरे लोगों के ...
पढ़ लीजिये,...इसलिए हथेली और पैरों के नीचे नहीं आते बाल! , शेयर करके दोस्तों का ज्ञान भी बढ़ाएं

पढ़ लीजिये,...इसलिए हथेली और पैरों के ...

हमारा शरीर कई प्रकार के अंगों से मिलकर बना है जिनका अलग-अलग कार्य होता है और शरीर ...
आप भी जानें, लड़कियों को ही क्यों आते हैं पीरियड्स?

आप भी जानें, लड़कियों को ही क्यों आते ...

अबतक आपने लड़कियों के पीरियड्स के बारे में कई लेख पढ़े होंगे. अब तो लड़के भी इस समस्या ...

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।