गोरखपुर में बच्चों की मौत पर मायावती ने जताया दुःख, कहा- BJP सरकार की जितनी निंदा की जाये कम

By: jhansitimes.com
Aug 12 2017 05:02 pm
175

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने भाजपा की प्रदेश सरकार निशाना साधते हुए कहा कि योगी सरकार की कार्यप्रणाली पूरी तरह से जन विरोधी है। सरकार मूलभूत जरुरतों की तरफ ध्यान न देते हुए अनावश्यक मुद्दों पर लोगों का ध्यान भटका रही है। गोरखपुर में एक सप्ताह के अंदर 60 बच्चों की मौत के बाद भी सरकार अभी तक सजग नहीं हुई है। ऐसी घटना की जितनी निंदा की जाए वह कम ही है। 

गोरखपुर हादसा प्रदेश सरकार की लापरवाही

मायावती ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जिले गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कालेज में सरकारी उदासीनता के कारण  केवल छह व सात दिनों में ही 60 से अधिक मासूम बच्चों की मौत से महिलाओं की गोद उजड़ गई है। बीजेपी शासनकाल में जनहित व जनकल्याण की घोर आपराधिक लापरवाही से दु:खद व दर्दनाक घटनाओं के लिये सरकार की जितनी भी भत्र्सना की जाये कम होगी। उन्होंने कहा कि इसकी उच्च स्तरीय जाँच होनी चाहिये व पीडि़त परिवार की हर प्रकार से पूरी मदद की जानी चाहिये। 

आपराधिक लापरवाही के लिए मंत्री बर्खाश्त होने चाहिए

बसपा सुप्रीमों ने आरोप लगाया कि बीजेपी की सरकारों के लिये व्यापक जनहित व जनकल्याण के मामले ज़्यादा महत्व नहीं रखते हैं क्योंकि उनके लिये खासकर दलित-विरोधी, पिछड़ा वर्ग व मुस्लिम-विरोधी मामले के साथ-साथ तिरंगा, वन्देमातरम मदरसा व एण्टी रोमियो आदि ध्यान बाँटने वाले मुद्दे ज़्यादा महत्व रखते हैं। इसलिये स्वास्थ्य विभाग में इस प्रकार की आपराधिक लापरवाही के लिये विभागीय मंत्री को बर्खास्त करने का मामला मुख्यमंत्री की विवेक पर ही छोड़ देना बेहतर हैं।

प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर उठे सवालिया निशान

 सुश्री मायावती ने अपने बयान में कहा कि इतने बड़े पैमाने पर माँओं की गोद उजडऩे की दर्दनाक घटना उस समय हुई है जब प्रदेश के मुख्यमंत्री स्वयं गोरखपुर जिले में सरकारी दौरे पर थे। राजनीति व पूजा-पाठ आदि से थोड़ा समय निकालकर सरकारी विभागों के कार्यकलापों की समीक्षा का सरकारी काम भी कर रहे थे। परन्तु इसी दौरान इस प्रकार की सनसनी फैला देने वाली व आश्चर्यचकित कर देने वाली घटना का होना वास्तव में प्रदेश की बीजेपी सरकार की क्षमता व उसकी कार्यप्रणाली की सफलता पर एक नहीं बल्कि एक सौ सवालिया निशान खड़े करता है। 

गोरखपुर के अस्पताल का दौरा करेगा बसपा का प्रतिनिधि मंडल

मायावती ने कहा कि इस दर्दनाक घटना की संवेदनशीलता को गम्भीरता से लेते हुये बी.एस.पी. के तीन सदस्सीय उच्च प्रतिनिधि मण्डल को तत्काल गोरखपुर जाकर अस्पताल का दौरा करने, पीडि़त परिवार को सांत्वना देने तथा उन्हें न्याय पहुँचाने का भरोसा दिलाने का निर्देंश दिया गया है। इस प्रकार बी.एस.पी. उत्तर प्रदेश स्टेट यूनिट के अध्यक्ष रामअचल राजभर, विधानसभा में बी.एस.पी. दल के नेता लालजी वर्मा व क्षेत्र के पार्टी प्रभारी  दिनेश चन्द्रा (एम.एस.सी.) गोरखपुर जाकर घटना की जानकारी प्राप्त कर अपनी रिपोर्ट तैयार करेंगे, क्योंकि बीजेपी के नेतागण सही तथ्यो ं को तोडऩे- मरोडने व जनता को असली मुद्दे से भटकाकर उन्हें गुमराह करने के मामलों में काफी ज़्यादा महारत रखते हैं। वे जनहित की अनदेखी करना, अपनी जिम्मेदारी से भागना और फिर जनता को बहकाना खूब अच्छी तरह से जानते हैं।

पूर्वी यूपी में जापानी बुखार से लोग हैं पीडि़त

उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में ख़ासकर मुख्यमंत्री के गोरखपुर मण्डल के अन्र्तगत विभिन्न जि़लों की बहुत बड़ी जनसंख्या जापानी बुखार (जापानी इंसेफ्लाइटिस) की बीमारी से काफी लम्बे समय से पीडि़त है, परन्तु उसके सम्बन्ध में भी सरकार की लापरवाही ही अब तक देखने को मिल रही है जो कि बड़ी चिन्ता की बात है। सरकार को इस पर तत्काल जरूरी कार्रवाई करनी चाहिये।

 


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।