OMG! दोगुनी उम्र की पत्नीं के साथ इस 9 साल के लड़के ने मनाई सुहागरात जिसके बाद…

By: jhansitimes.com
Sep 04 2017 10:09 am
767

छोटा पर्दा हो या बड़ा पर्दा इन दोनों ही पर्दों में काम करने वाले कलाकारों की अपनी अलग-अलग ही पहचान है.छोटे पर्दे का सबसे सफल सीरियल था छोटे पर्दे का सबसे ज्यादा मशहूर सीरियल क्योंकि सास भी कभी बहू थी तो आपको याद ही होगा. इस शो में काम करके कई अभिनेता और अभिनेत्रियों की किस्मत ही बदल गई थी. इस सीरियल ने छोटे पर्दे में आते के साथ ही छोटे पर्दे को बड़े पर्दे का दर्ज़ा दिला दिया था.इस सीरियल की बदौलत ही एकता कपूर को टीवी की दुनिया की रानी कहा जाने लगा.

क्योंकि सास भी कभी बहू थी के कुछ खास एपिसोड ने टीआरपी के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये थे.कोई भी निर्माता और निर्देशक अपने सीरियल की टीआरपी बढ़ाने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है.टीवी पर ऐसे कई धारावाहिक है जिनके टीवी पर आने से ही विवाद खड़ा हो गया था ऐसा ही एक सीरियल है सोनी पर आने वाला ‘पहरेदार पिया की’.

इस सीरियल ने टीवी पर जिस दिन से आना शुरू किया था उस दिन से इस सीरियल को कई विवादों का सामना करना पड़ रहा है. पहला विवाद था सोनी टीवी पर रोज़ रात को प्रसारित होने वाले सीरियल ‘पहरेदार पिया की’ के विषय को लेकर. लोगों ने बहुत विवाद किया था.लोगों ने इस सीरियल के निर्माता और निर्देशक के पैसा कमाने के लिए इस हद तक गिर जाने की कड़ी आलोचना की थी.

 

‘पहरेदार पिया की’ सीरियल में मुख्य रोल में जो अभिनेता है उनकी उम्र महज़ 9 साल और उसकी शादी एक 18 साल की लड़की से हो जाती है. धीरे-धीरे इस छोटे लड़के को अपने से दोगुनी उम्र की लड़की से प्यार हो जाता है.यहां तक तो सब ठीक था लेकिन अब यह लड़का और लड़की दोनों हनीमून मनाने जा रहे है, यह मामला अब एक और विवाद को जन्म दे चुका है. पहले से ही आलोचनाए झेल रहे सीरियल के निर्माताओं का लोग कड़े शब्दों में विरोध कर रहे है.

 सीरियल में अभिनेत्री तेजस्वी प्रकाश वयंगंकर ने 19 साल की राजकुमारी दिया सिंह का किरदार निभा रही हैं, इस सीरियल में जो उनके पति बने है उनकी उम्र सिर्फ 9 साल. तेजस्वी प्रकाश वयंगंकर के पति का रोल अदा करने वाले चाइल्ड एक्टर का नाम अफान खान है जो राजकुमार रतन सिंह का किरदार अदा कर रहे है. लोगों का कहना है कि पहले इस शो में इस अजीब जोड़ी की शादी करवाई गई. शादी करवाने के बाद इस जोड़ी को अब हनीमून पर भेजकर इस शो के निर्माता क्या दिखाना चाहते है.

अगर बात करे टीवी सीरियल में काम करने वाले कलाकारों की इस सीरियल के बारे में प्रतिक्रिया देने कि तो एक कलाकार ने बताया है ‘अगर हम किसी और को छोड़ देते है तो, हमे लगता है कि हमारे यहां के लोग भी इस तरह के सीरियल को कभी देखना पसंद नहीं करेंगे.

जो भी अभिनेता और अभिनेत्रियां इस शो में काम कर रहे है उनके लिए मैं अच्छा ही चाहता हूँ. लेकिन अगर हमारे पास काम नहीं है तो हम काम पाने के लिए एक ऐसे सीरियल से जुड़ जायेगे जिसमें आपको काम करके ख़ुशी ना मिले और आपका नाम भी विवादों में जुड़ जाए? आपको काम करते समय उस काम को एन्जॉय करना चाहिए.तभी आपका मन उस काम में लगेगा. मैं ये सब कुछ बिना किसी डर से बोल रहा हू. इस सीरियल से भी बेहतर टीवी शो बन सकता था.”


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।