जिस दिन प्रधान सेवक नरेंद मोदी संन्यास लेंगे, मैं भी राजनीति को अलविदा कह दूंगी: स्मृति ईरानी

By: jhansitimes.com
Feb 04 2019 10:33 am
345

पुणे:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस दिन राजनीति से संन्यास लेंगे, उस दिन वह भी राजनीति को अलविदा कह देंगी. यह कहा है केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने रविवार को | हालांकि, स्मृति ने कहा कि मोदी अभी कई बरस तक राजनीति में रहेंगे. उन्होंने 'वर्ड्स काउंट महोत्सव' में एक परिचर्चा के दौरान यह कहा. जब एक श्रोता ने उनसे पूछा कि वह कब 'प्रधान सेवक बनेंगी. दरअसल, इस शब्द का इस्तेमाल मोदी खुद के लिए करते हैं. केंद्रीय मंत्री ने इस पर जवाब दिया, "कभी नहीं. मैं राजनीति में बेहतरीन नेताओं के साथ काम करने के लिए आई हूं और इस मामले में मैं बेहद सौभाग्यशाली रही हूं कि मैंने दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी जैसे दिग्गज नेता के नेतृत्व में काम किया और अब मोदी जी के साथ काम कर रही हूं.'' उन्होंने कहा, जिस दिन 'प्रधान सेवक' नरेंद्र मोदी राजनीति से संन्यास ले लेंगे, मैं भी भारतीय राजनीति को अलविदा कह दूंगी.

हाल ही में ईरानी को कांग्रेस पर धारदार हमले के लिए प्रवक्ता बनाया गया है, क्योंकि वह हाजिरजवाब और स्पष्ट वक्ता हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में ईरानी ने कांग्रेस के गढ़ अमेठी में कांग्रेस नेता राहुल गांधी को चुनौती दी थी. नेहरू-गांधी परिवार के सदस्यों पर आरोपों के संबंध में भाजपा की ओर से हमला करने में वह हमेशा मुखर रही हैं. विवादित राफेल विमान सौदे को लेकर सरकार पर कांग्रेस द्वारा लगाए जा रहे आरोपों पर उन्होंने कई बार स्पष्ट तरीके से पार्टी का नजरिया पेश किया है. 

भाजपा ने पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम के बयान पर पलटवार करने के लिए ईरानी को उतारा था. चिदंबरम ने फ्रांस से राफेल विमान खरीद के सौदे से संबंधित एक अखबार की रपट को लेकर भाजपा पर हमला किया था. हाल ही में प्रधानमंत्री को फिलिप कोटलर प्रेसीडेंशियल अवार्ड से सम्मानित किए जाने पर राहुल गांधी द्वारा किए गए उपहास का ईरानी ने करारा जवाब दिया था. 


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।