ब्लाॅक प्रमुखों के खिलाफ अविश्वास के मुददे पर प्रभारी मंत्री और भाजपाइयों में ठनी, नेतृत्व में ब

By: jhansitimes.com
Aug 28 2017 08:40 pm
1239

उरई। सूत्रों से आ रही खबरों के मुताबिक सपा सरकार में साम-दाम-दंड-भेद से निर्वाचित हुए ब्लाॅक प्रमुखों को अविश्वास प्रस्ताव के जरिये अपदस्थ कराने के मामले में भाजपा और प्रभारी मंत्री के बीच ठन गई है। प्रभारी मंत्री भाजपा के सहयोगी अपना दल के कोटे से हैं। सपा सरकार के समय निर्वाचित हुए जिला और क्षेत्र पंचायत प्रमुखों को हटाने के लिए सभी जिलों में भाजपा के लोगों की ओर से अभियान सा छिड़ा है। पड़ोस के जनपद औरैया में तो इसकों लेकर रक्त रंजित स्थिति तक पैदा हो चुकी है। इसे देखते हुए जनपद के भाजपा नेतृत्व में भी बेचैनी घर कर चुकी है। 

कहीं सपा के जमाने के प्रमुखों को ढोने के चक्कर में उनकी राष्ट्रीय और प्रदेश नेतृत्व के सामने फिसडडी इमेज न बन जाये इसलिए पिछले दिनों जालौन के चर्चित निवर्तमान नगर पालिकाध्यक्ष गुलाब जाटव के ब्लाॅक प्रमुख भाई के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश करने की पहल भाजपा की ओर से की गई लेकिन इसे टांय-टांय फिस्स कर दिया गया। भाजपा के लोग इसका ठीकरा प्रभारी मंत्री जयकुमार सिंह जैकी के सिर फोड़ रहें हैं। शनिवार को रघुवीर धाम में भाजपा के क्षेत्रीय संगठन मंत्री ओम प्रकाश श्रीवास्तव की देखरेख में हुए सम्मेलन के बाद उनकी उपस्थिति में एक घर में भाजपा की कोर कमेटी की बैठक भी हई। जिसमें एक प्रस्ताव पारित कर मुख्यमंत्री को भेजने का फैसला किया गया है। यह प्रस्ताव मुख्यमंत्री से जैक को जिले के प्रभार से मुक्त करने से संबंधित होगा। हालांकि भाजपा नेता पूंछने पर न तो इसकी पुष्टि कर रहे हैं और न ही इंकार।  दूसरी ओर जैकी के समर्थक भी तने हुए हैं। 

उनका कहना है कि भाजपा के एक क्षेत्रीय स्तर के पदाधिकारी उस कार्यकर्ता पर बरदहस्त रखे हुए हैं जिसकी सवारी समझी जाने वाली स्कार्पियों में गौ मांस पकड़ा गया था। लेकिन उनके कारण न तो संदिग्ध नेता पर पुलिस ने कोई एक्शन लिया और न ही पार्टी ने। अपना दल भी मुख्यमंत्री व भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को इन कारगुजारियों से अवगत करायेगा। स्थानीय निकाय के आने वाले चुनाव में इससे उपज रही फिजा किस तरह राजग के लिए जिले में घातक साबित हो सकती है। इस बारे में भी मुख्यमंत्री को अवगत कराया जायेगा। हालांकि अपना दल का भी कोई जिम्मेदार यह बात कहने के लिए खुलकर सामने आने को तैयार नही है। इसलिए सहयोगी दलों का शीतयुद्ध अभी सतह पर नही आ पा रहा है।

भाजपा का एक मंत्री भी कार्यकर्ताओं के रडार पर

विरोधी दलों के नेताओं को बचाने के लिए गैर ही नही भाजपा का भी एक मंत्री पार्टी के आम कार्यकर्ताओं के निशाने पर है। कार्यकर्ताओं में इसे लेकर आका्रेश है कि भाजपा के दमन के लिए अपने जलबे के समय कुख्यात दूसरी पाटी्र के नेताओं को कही से सरकार बदलने का एहसास नही हो पा रहा। हमारे अपने ही लोग उनकी गुलामी में मशगूल है। जिससे उनके सगे-संबधी अधिकारियों को मनचाही पोस्टिंग मिल रही है। उनके द्वारा कब्जा किये गये सम्पत्तियों के मामलों को छुआ भी नही जा रहा और उनके लगुओ-भगुओं के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की योजना से पार्टी के सच्चे कार्यकर्ताओं को रोका जा रहा है।


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।