शादी में मेहंदी से लेकर फेरों तक की रस्मों के पीछे छुपे हैं कई राज़, फोटो पर क्लिक कर जानें

शादी में मेहंदी से लेकर फेरों तक की ...

एक ख़ास पल होता है शादी, जो ना सिर्फ दो लोगों को जोड़ता है बल्कि दो परिवारों को ...
पढ़ लीजिये, सुहागरात से पहले दुल्हन के मन में होते हैं ये सवाल

पढ़ लीजिये, सुहागरात से पहले दुल्हन ...

लव मैरिज हो या अरेंज मैरिज, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन सुहागरात को लेकर हर ...
आईये जानते हैं, महिलाओं को सेक्‍स के दौरान कौन सी जरूरी बातों का रखना चाहिए ध्यान

आईये जानते हैं, महिलाओं को सेक्‍स के ...

एक महिला के ये जानना जरूरी होता है कि सेफ सेक्‍स क्‍या होता है। महिलाएं अक्‍सर ...
 दिखा रहा था अश्‍लील फोटो, गंदी नीयत से छूने लगा, विस्तार से जानिए पूरा मामला

दिखा रहा था अश्‍लील फोटो, गंदी नीयत ...

महिलाओं ने इंटरनेट पर अपने साथ हुई यौनाचार की घटनाओं को लेकर #MeToo मुहीम की शुरुआत ...
मां पार्वती की देन है मासिक धर्म,  ये बातें जानकर- स्त्री पुरुष रह जाएंगे हैरान

मां पार्वती की देन है मासिक धर्म, ये ...

स्त्रियों को अक्‍सर ये तर्क-वितर्क करते देखा जाता है कि आखिर महिलाओं को ही मासिक ...
महिला के लिए नर्क से कम नहीं होता रेप , प्रमुख देश एेसे देते हैं इसके खिलाफ़ सज़ा

महिला के लिए नर्क से कम नहीं होता रेप ...

आज  हम सभी अपनी ज़िन्दगी के सारे फैसले ख़ुद लेते हैं. हम नहीं चाहते कि कोई और ये ...
कस्टमर्स की अजीबो-गरीब डिमांड को पूरा करने में सेक्स वर्करों का छूट जाता है पसीना

कस्टमर्स की अजीबो-गरीब डिमांड को पूरा ...

सेक्‍स वर्कर की ज़िंदगी आसान नहीं होती है। उन्‍हें हर रोज़ कई तरह की मुश्किलों ...
...आखिर क्यों लड़कों को लाल कपड़े वाली लड़कियां लगतीं हैं ज्यादा आकर्षक

...आखिर क्यों लड़कों को लाल कपड़े वाली ...

आमतौर पर खतरे की निशानी के तौर पर जाना जाने वाले लाल रंग को प्‍यार के रंग ...
जन्माष्टमी: इस उपाय के बाद भरनी शुरू हो जाएगी आपकी तिजोरी

जन्माष्टमी: इस उपाय के बाद भरनी शुरू ...

 कई जगहों पर लोग कृष्ण कन्हैया का जन्मदिन आज मना रहे हैं तो कई जगहों पर कल। दरअसल ...
पढ़िए, जो बहुत कम लोग जानते हैं... मौत (मृत्यु) से जुड़े 25 रोचक तथ्य

पढ़िए, जो बहुत कम लोग जानते हैं... मौत ...

अपनी मौत से ज्यादा डर तो दूसरो की मौत से लगता हैं. यह एक अटल सत्य है कि death होगी ही ...

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।