सेक्स रैकेट पर पुलिस की दबिश, निर्वस्त्र मिले कई लड़के-लड़कियां

By: jhansitimes.com
Jun 12 2018 09:50 am
3420

छत्तीसगढ़: एक हाई प्रोफ़ाइल इलाके में सेक्स रैकेट के अड्डे पर छह्प मरते हुए पुलिस ने छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के बोरियाकला इलाके में जिस्मफरोशी के मामले में आधा दर्जन लड़कियों को हिरासत में लिया गया है. सात ग्राहक भी पुलिस के हत्थे चढ़े हैं. रविवार की देर रात एक हाई प्रोफाइल इलाके में छापेमारी करके पुलिस ने वेश्यावृति के धंधे में लिप्त कई लड़कियों और लड़को को निर्वस्त्र हालत में गिरफ्तार किया है.

गिरफ्तार लड़कियां मुंबई और कोलकाता की है. बताया जा रहा है कि सभी लड़कियां एक महीने के कांट्रेक्ट पर रायपुर आई थी. 28 दिन तो उनके गुलजार रहे, लेकिन आखिरी दिनों में वे ग्राहकों समेत पुलिस के हत्थे चढ़ गईं. ग्राहकों और लड़कियों दोनों के खिलाफ पुलिस ने पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई की है. उन्हें जेल भेज दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, रायपुर में बोरियाकला के हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में एक मकान पर पुलिस ने तड़के छापा मारा था. पुलिस की घेराबंदी इतनी कारगर थी कि कोई भी मौका-ए-वारदात से भाग नहीं पाया. आमतौर पर पिछली दो तीन छापामारी में आरोपी मौके का फायदा उठाकर चंपत हो जाते थे. लेकिन इस बार पुलिस काफी सतर्क थी.

पुलिस के मुताबिक, एक दलाल की तलाश की जा रही है. वह कोलकाता, मुंबई और दिल्ली से युवतियां बुलाकर जिस्मफरोशी का कारोबार चलाता था. मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर उसने देर रात अपना एक पाइंटर मौके पर भेजा था, लेकिन दलाल उसके हाथ नहीं लगा. झारखंड की एक महिला से दलाल के बारे में जानकारी मिली है.

यह महिला ही किराए के मकान में सेक्स वर्कर को शरण देती थी. फरार दलाल ने एक व्हाट्सऐप ग्रुप बनाया था. इस ग्रुप में नियमित ग्राहक जुड़े हुए थे. इसमें मुंबई, दिल्ली, कोलकाता समेत अन्य शहरों की युवतियों के फोटो और उनका रेट पोस्ट किया जाता था. ग्राहक को जो लड़की पसंद आ जाती, उसे बोरियाकला के इस ठिकाने पर बुलाया जाता था.

पुलिस ने गिरफ्तार युवतियों के पास से 8 मोबाइल फोन, आपत्तिजनक सामग्री, शक्तिवर्धक टैबलेट, हिसाब-किताब करने वाली डायरी सहित 61 हजार रुपये जब्त किया है. इसके साथ ही वहां से गिरफ्तार सभी आरोपियों के खिलाफ पीटा एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए कोर्ट में पेश किया. वहां से कोर्ट ने सभी को जेल में भेज दिया है.


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।