रिश्तों में आई कड़वाहट दूर, आशीर्वाद मिलने के चौथे दिन पिता-पुत्र का मिलन, शिवपाल साइलेंट मोड में

By: jhansitimes.com
Sep 28 2017 04:32 pm
1838

अब पिता- पुत्र के रिश्ते में आई कड़वाहट दूर होने लगी है| गुरूवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पिता मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की और 5 अक्टूबर को आगरा में होने वाले पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन का न्योता दिया|  नेताजी ने जिसे स्वीकार किया और अधिवेशन में शामिल होने की सहमित दी|  इस अधिवेशन में सपा के नये राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव होना है| 

समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील साजन ने कहा, हम सब के आदर्श और पार्टी को बनाने वाले मुलायम सिंह यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज मुलाकात के लिए नेताजी के घर गए और उन्हें राष्ट्रीय अधिवेशन ने शामिल होने का न्यौता दिया. नेताजी ने जिसे बकायदा स्वीकार किया और अधिवेशन में शामिल होने की अपनी स्वकृति राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को दी.

सुनील साजन ने बताया कि नेताजी ने जिस विचारधारा और जिस पार्टी को अपने हाथों से खड़ा किया है उसके खिलाफ कैसे जा सकते थे. नेताजी इस बात को बाखूबी समझते हैं कि कौन लोग समाजवादी विचारधारा और पार्टी को कमजोर करने लगे है. उन्हें भी नेताजी से नई पार्टी न बनाने का फैसला करके साफ संदेश दे दिया है.

साजन ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के ऊपर हमेशा नेताजी आशीर्वाद रहा है. यही वजह है कि 23 सितंबर को पार्टी के प्रान्तीय अधिवेशन में अखिलेश यादव ने मुलायम सिंह का जिक्र करते हुए कहा था कि नेताजी का आशीर्वाद उनके साथ है और वह उनके आंदोलन को ऊंचाइयों तक पहुंचाएंगे.

बता दें कि पिछले दिनों मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल यादव के नई पार्टी बनाने के अरमानों पर पानी फेर दिया है. नेताजी को शिवपाल यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में नई पार्टी के ऐलान के लिए जो प्रेस नोट दिया था उसे मुलायम सिंह ने पढ़ा ही नहीं था. इतना ही नहीं उन्होंने नई पार्टी बनाने से भी इंकार कर दिया था. मुलायम सिंह बेटे अखिलेश को आशीर्वाद भी दिया था.

मुलायम के इस रवैए से शिवपाल नाराज होकर साइलेंट मोड में चले गए है. शिवपाल समर्थक मुलायम सिंह के खिलाफ बगावती रुप अख्तियार कर लिया. शिवपाल  के करीबी माने जाने वाले शारदा प्रसाद शुक्ल से लेकर अमर सिंह तक नेताजी को कोसने में लगे है. अखिलेश यादव ने मौके की नजाकत को समझते हुए पिता से सुलह का रास्ता निकाल लिया है.

पूर्व मंत्री शारदा प्रताप शुक्ल ने मुलायम पर अपने बेटे अखिलेश से मिले होने का आरोप लगाया है. इस बीच, अपने सियासी भविष्य के लिये मुलायम की तरफ आशा भरी नजरों से देख रहे शिवपाल पर अब अपनी अलग राह पर चलने की दिशा में सोचने लगे हैं. शिवपाल के करीबियों को कहना है कि दशहरे के बाद नई पार्टी बनाने का ऐलान किया जाएगा. आगामी पांच अक्तूबर को सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन पर नजर है.

 


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।