परीक्षा देने गई छात्रा ने स्कूल के बाथरूम में बच्ची को जन्म, ऑटो वाला करता था रेप

By: jhansitimes.com
Jul 23 2017 08:42 am
3001

नई दिल्ली: इंसानियत को शर्मशार कर  देने वाली दिल्ली के मलिकपुर इलाके में घटित हुई| यहाँ एक सरकारी स्कूल के टॉयलेट में 10वीं की छात्रा ने बच्ची को जन्म दिया तो सबके होश उड़ गए|  उसके होश में आने पर पता चला कि वह रेप की शिकार हो रही थी|  आरोपी पड़ोस का 51 साल का ऑटो चालक निकला. उसे पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है.

शुरुआती जाँच में पता चला है कि आरोपी किशोरी छात्रा  का 4-5 बार यौन शोषण कर चुका था. किशोरी को अपने चंगुल में रखने के लिए रुपयों का लालच देता था. लड़की को शुरू में अपने प्रेग्नेंट होने का पता नहीं चला. जब पेट फूलने लगा तो आरोपी ने उसे बच्चा गिराने की दवा खिला दी, जिसके असर से उसे स्कूल में प्री-मेच्योर डिलीवरी (26 सप्ताह) हो गई| 

घर वालों ने सोचा बीमारी से फूल रहा है पेट: पुलिस के अनुसार, सबसे हैरानी की बात यह कि बच्ची के परिजनों को भी उसके प्रग्नेंट होने का अंदाजा नहीं लगा. उन्हें लग रहा था कि किसी बीमारी या गैस की वजह से किशोरी का पेट फूल रहा है. स्कूल से उसकी डिलीवरी की खबर मिली तो वह भी दंग रह गए. नाबालिग मां और नवजात शिशु एक सरकारी अस्पताल में भर्ती हैं. 

फिलहाल दोनों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. नॉर्थ वेस्ट डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी मिलिंद डुंबरे ने घटनाक्रम की पुष्टि की. उन्होंने बताया कि पुलिस को अस्पताल से मामले की सूचना मिली थी. अस्पताल में होश आने के बाद किशोरी ने जो बताया, उससे आरोपी ऑटो वाले की करतूत का खुलासा हुआ.

 

कभी 500 तो कभी 800 रुपये देता था: आरोपी को पकड़ने के लिए एक टीम बनाई गई. किशोरी की स्कूल में डिलीवरी और पुलिस कार्रवाई की भनक लगते ही आरोपी फरार हो गया. उसे पुलिस ने शुक्रवार को अरेस्ट कर लिया. उसकी पहचान 51 साल के अब्दुल गफ्फार के तौर पर हुई. उसकी फैमिली बिहार में है. वह यहां किराए पर अकेला रहता है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी किशोरी की नादानी का नाजायज फायदा उठा रहा था. उसे यौन शोषण के बाद 500 तो कभी 800 रुपये देता था, ताकि वह उसके चंगुल में फंसी रहे. इस तरह चार-पांच बार रेप कर चुका था. किशोरी ने जब उसे पेट फूला होने और दर्द के बारे में बताया तो उसने उसे गर्भपात की दवा खिला दी.

एग्जाम देने स्कूल आई थी छात्रा 

पुलिस का कहना है कि ये मामला 20 जुलाई की है। लड़की 20 जुलाई को कंपार्टमेंट की पेपर देने आई थी। इसी दौरान उसके पेट में दर्द हुआ। बाथरूम में उसने बच्ची को जन्म दिया। काफी समय तक वह जब बाथरूम से बाहर नहीं आई तो टीचर उसे बाथरूम में देखने गई। जब टीचर ने देखा तो वह घबरा गई और उसने तुरंत मामले की जानकारी अन्य टीचर्स को दी। 

स्कूल प्रशासन ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया और उसके परिजनों को घटना की जानकारी दी। आनन-फानन में परिजन अस्पताल में पहुंचे और अपनी बेटी को देखकर रोने लगे। उनका कहना है कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी। उन्हें लगा था कि उनकी बेटी को शायद गैस की प्रोब्लम है। इसलिए उन्होंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया। 

किराए पर छात्रा के घर के आस-पास ही रहता था आरोपी 

छात्रा से जानकारी लेकर पुलिस ने आरोपी पुलिस की टीम ने आरोपी के कई ठिकानों पर दबिश देकर शुक्रवार को उसे इलाके से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पहचान 51 वर्षीय अब्दुल गफ्फार के रूप में हुई है। वह यहां किराए पर रहता है।  आरोपी ने छात्रा की नादानी का फायदा उठाया और उसे पैसों का लालच देकर उसके साथ रेप किया। 


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।