पैरों तले खिसक जाएगी जमीन, जब जानेंगे नीता अंबानी के शाही फोन की कीमत

By: jhansitimes.com
Aug 02 2017 08:25 am
1917

अक्सर सुर्ख़ियों में  रहने वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी हैं। वह एक कामयाब बिजनेसवुमेन भी हैं| चाहे वो आईपीएल में मुंबई इंडियन्स को चीयर करना हो या कंपनी के नए प्रॉडक्ट का उद्घाटन। मुकेश और नीता की शादी 1985 में हुई थी। दोनों के तीन बच्चे हैं। इस दंपति का घर दुनिया के 10 सबसे महंगे घरों में शामिल है। नीता भी लग्जरी लाइफस्टाइल के लिए जानी जाती हैं। उनकी साड़ी, घड़ी, हैंडबैग, फुटवियर हर चीज शाही है। 

लेकिन टेक्नॉलजी के इस जमाने में गैजेट से दूर रहना किसी के लिए मुमकिन नहीं है। यही बात नीता के लिए भी है। लेकिन नीता अंबानी के पास जो फोन है, वो भी किसी लग्जरी आइटम से कम नहीं है। वह दुनिया के सबसे शानदार मोबाइल फोन्स में से एक इस्तेमाल करती हैं। जितनी उनके फोन की कीमत है, उतने में एक प्राइवेट जेट आ सकता है। नीता अंबानी फॉल्कन सुपरनोटा आईफोन 6 पिंक डायमंड फोन यूज करती हैं, जिसकी कीमत 48.5 मिलियन डॉलर यानी 315 करोड़ रुपये है। यह फोन साल 2014 में लॉन्च हुआ था।

खासियत: एशियानेटन्यूज के मुताबिक यह फोन साल 2014 में लॉन्च हुआ था और कंपनी इसे खास सिलेब्रिटीज के लिए बनाती है। यह फोन 24 कैरेट गोल्ड और पिंक गोल्ड से बना है। इस पर प्लेटिनम की कोटिंग है, जिससे यह फोन टूट नहीं सकता। इसके फोन के पीछे बड़ी पिंक डायमंड है। इस फोन को हैक भी नहीं किया जा सकता। अगर कोई इसे हैक करने की कोशिश करेगा तो तुरंत फोन के मालिक के पास मैसेज पहुंच जाएगा। फोन के अलावा वह दुनिया का सबसे महंगा हैंडबैग भी इस्तेमाल करती हैं, जिसकी कीमत 30-40 लाख के करीब है।

और भी हैं शाही शौक: नीता अंबानी के घर में उनके लिए जो चाय बनती है, उसकी कीमत भी 3 लाख रुपये है। उन्होंने इंटरव्यू में बताया था कि वह दिन की शुरुआत जापान के सबसे पुराने क्रॉकरी ब्रांड ‘नोरिटेक’ के कप में चाय पीकर करती हैं। नोरिटेक क्रॉकरी की खास बात यह है कि इसमें सोने (गोल्ड) की बॉर्डर है और इसके 50 पीस के सेट की कीमत डेढ़ करोड़ रुपये है।‘यानी एक कप चाय की कीमत हुई 3 लाख रुपये। नीता अंबानी ब्रांडेड वॉच की भी शौकीन हैं। उनके वॉच कलेक्शन में बुल्गारी, कार्टियर, राडो, गुची, केल्विन केलिन और फोसिल जैसे ब्रांड शामिल हैं। इन ब्रांड्स के घड़ियों की कीमत डेढ़ से दो लाख रुपये से शुरू होती है।


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।