शिवराज के शासन में खेत पर दबंगों ने दलित किसान को जिंदा जलाया, हुई दर्दनाक मौत

By: jhansitimes.com
Jun 23 2018 08:19 am
287

भोपाल: अतिक्रमणकारी दबंगों ने अनुसूचित जाति के एक किसान की गांव के ही खेत में जिंदा जलाकर हत्या कर दी|  पुलिस उपमहानिरीक्षक धमेन्द्र चौधरी ने आज बताया कि मामले में तुरंत कार्रवाई करते हुए हमने चारों आरोपियों को हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया है. पीड़ित किसान की पहचान किशोरीलाल जाटव (70) के तौर पर की गयी है. गंभीर रूप से झुलसे किसान की कल अस्पताल ले जाने से पहले ही मौत हो गयी थी. चौधरी ने बताया, ‘‘ इस मामले की जांच के लिये हमने एएसपी संजय साहू के नेतृत्व में विशेष जांच दल :एसआईटी: का गठन किया है.’’ उन्होंने बताया कि चारों आरोपियों तीरन यादव, प्रकाश यादव, संजू यादव और बलवीर यादव को कल ही गिरफ्तार कर लिया गया था.’’

 उन्होंने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि भोपाल जिले में बैरसिया क्षेत्र के परसोरिया घाटखेड़ी गांव में पट्टे पर मिली खेती की जमीन पर दबंगों द्वारा किये गये अतिक्रमण को हटाने के लिये गये किशोरीलाल को तीन आरोपियों ने खेत में ही पकड़ लिया और चौथे आरोपी ने उस पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी. पीड़ित किसान के परिजन गंभीर रूप से जख्मी किसान को निकट के अस्पताल में ले गये लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि इसके लिये जिम्मेदार लोगों को बख्शा नहीं जायेगा. घटना की निंदा करते हुए प्रदेश के गृह मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. मामले की जांच की जा रही है. पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के हरसंभव प्रयास किये जायेगें.’’

इस बीच, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने घटना को ‘‘दिल दहलाने वाला और दर्दनाक’’ बताते हुए कहा कि प्रदेश में सरकार कब दलितों के खिलाफ अत्याचारों को रोक पायेगी. कमलनाथ ने कांग्रेस नेता कैलाश मिश्रा और आसिफ जकी की एक समिति गठित कर उन्हें पीड़ित किसान परिवार से उनके गांव जाकर मिलने के निर्देश देते हुए इस मामले में शीघ्र विस्तृत रिपोर्ट पेश करने को कहा है.


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।