उत्तर प्रदेश: दिनदहाड़े सपा नेता को गोलियों से भूना, हुई दर्दनाक मौत

By: jhansitimes.com
May 11 2018 08:04 pm
3055

वाराणसी: शुक्रवार को दिनदहाड़े सपा नेता प्रभु सहानी की चौक थाना क्षेत्र में सिंधिया घाट पर गोली मारकर हत्या कर दी गयी। सूचना पर एसपी सिटी के अलावा चौक पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम पहुंची। पुलिस ने मौके से 9 एमएम का एक खोखा बरामद किया है। घटना का कारण दशाश्वमेध घाट के सामने जेटी के पास नावें बांधने को लेकर विवाद है। मृतक के छोटे भाई शम्भू की तहरीर पर पुलिस ने उनके चचेरे भाई विनोद सहानी, शिवकुमार और जितेंद्र के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

झांसी विकास प्राधिकरण द्वारा स्वीकृत प्लाट बिकाऊ है आसान किस्तों पर, इंजीनियरिंग कालेज के पास कानपुर रोड दिगारा भगवंतपुरा बाईपास रोड झांसी पर स्थित

सम्पर्क करें- 08858888829, 07617860007, 09415186919, 08400417004

बंगाली टोला निवासी प्रभु सहानी की दशाश्वमेध घाट पर कई नावें चलती हैं। उसका चेचेरे भाई विनोद निषाद और परिवारवाले भी नावों का संचालन करते हैं। प्रभु हर शुक्रवार को दर्शन करने सिंधिया घाट के पास संकठा मंदिर में दर्शन के लिए जाता था। दोपहर एक बजे प्रभु अपने कर्मचारी पवन और एक अनय के साथ नाव से सिंधिया घाट पहुंचा। वह साथियों को नाव पर ही बैठाकर खुद दर्शन करने मंदिर चला गया। करीब 1.20 बजे प्रभु दर्शन के बाद पॉलीथिन में प्रसाद लेकर घाट की सिढ़ियां उतर रहा था। वहां पहले से मौजूद दो बदमाशों ने उसे असलहा सटा दिया। इसके बाद ताबड़तोड़ तीन फायरिंग की। एक गोली प्रभु के सीने में लगी और वह गिर गया। तेज धूप के कारण घाट पर बहुत कम लोग थे। घटना देख वह भी भाग गये। तभी नाव पर मौजूद कर्मचारी आसपास के लोगों के सहयोग से उसे मंडलीय अस्पताल ले आये। चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

एसएसपी आरके भारद्वाज ने बताया कि प्रभु के चचेरे भाइयों व मानमंदिर निवासी विनोद, शिवकुमार व जितेंद्र ने घटना को अंजाम दिया है। दोनों पक्षों में दशाश्वमेध घाट के पास नावें बांधने को लेकर 20 वर्षों से विवाद चल रहा था। मामला नगर निगम में गया। पिछले दिनों नगर निगम ने एक पक्ष को जेटी के दक्षिण और दूसरे को उत्तर नावें बांधने का आदेश दिया था। विनोद सहानी पक्ष इस आदेश से संतुष्ट नहीं था। यहीं घटना की वजह बनी। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की चार टीमें लगायी गयी है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।  

झांसी विकास प्राधिकरण द्वारा स्वीकृत प्लाट बिकाऊ है आसान किस्तों पर, इंजीनियरिंग कालेज के पास कानपुर रोड दिगारा भगवंतपुरा बाईपास रोड झांसी पर स्थित

सम्पर्क करें- 08858888829, 07617860007, 09415186919, 08400417004

पिछले नगर निगम चुनाव में प्रभु साहनी सपा के टिकट पर बंगाली टोला वार्ड से पार्षद का चुनाव लड़ चुका है। वह समाजवादी युवजन सभा का जिला सचिव बताया गया है। जबकि उसका चचेरा भाई विनोद सहानी उर्फ गुरू निषादराज सेवा समिति का अध्यक्ष है और वह भी नगर निगम चुनाव में निर्दल प्रत्याशी रह चुका है। हालांकि प्रभु के पिता का निधन हो चुका है। लेकिन उनके जीवित रहते चचेरे भाईयों के पिता से नावें बांधने को लेकर विवाद होता रहा। दशाश्वमेध घाट पर जेटी लग जाने के बाद व्यवसायिक प्रतिद्वंद्विता और बढ़ गयी थी। आयेदिन विवाद हो रहा था। घटना से एक दिन पहले ही दोनों पक्षों में विवाद हुआ था। एक-दूसरे को समझ लेने की धमकी दी गयी थी। 

 

चचेरे भाइयों से विवाद के दौरान अक्सर एक-दूसरे को धमकियां दी जाती रहीं। लेकिन कभी मामला इतना गंभीर नहीं हुआ। दस साल पहले परिवार के हत्या के प्रयास की घटना हो चुकी है। एक दिन पहले विपक्षियों की धमकी को प्रभु ने गंभीरता से नहीं लिया। सूत्रों के अनुसार प्रभु कर्मचारियों के साथ दशाश्वमेध घाट से नाव लेकर चला तभी उसे मारने के लिए हमलावर पीछे लग गये थे। जब प्रभु मंदिर में दर्शन करने गया तो तपती धूप के बावजूद आरोपित घाट के चबूतरे पर बैठकर उसके आने का इंतजार कर रहे थे। प्रभु सीढ़ी से उतरने लगा तो दोनों खड़े हो गये। फिर भी वह हत्यारों की मंशा को भाप नहीं पाया। जैसे ही प्रभु पास आया एक ने आगे और दूसरे ने पीछे से असलहा सटा दिया। फिर फायर झोंक दी। घटनास्थल से कुछ दूर पर खेल रहे बच्चों ने गोली मारनेवालों को देखा लेकिन वे डर गये। बच्चों ने बताया कि हत्या के बाद बदमाश सीढ़ियों से ऊपर चढ़ते हुए संकठा गली से भाग निकले।


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।