जब ऑनलाइन सेक्स में पड़े लेने के देने, पढ़ लीजिये- इंटरनेट पर शेयर किये गए रोचक किस्से

By: jhansitimes.com
Jun 05 2018 09:33 am
444

हम सभी अपनी जवानी के दिनों में बेहद शर्मिंदा हुए हैं. लेकिन हमारी शर्मिंदगी केवल हमारे या हमारे जानने वालो के बीच ही रहा करती थी. मगर बढ़ते इंटरनेट और दुनिया से जुड़ते हुए अब आज का युवा अपने कारनामों के कारण अपने जानकारों के बीच ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में शर्मिंदा हो बैठता है. अगर यकीन नहीं आता तो आज हम आपको इंटरनेट पर शेयर किए गए कुछ मजेदार किस्से को बारे में बताते हैं.

आजकल युवाओं में ऑनलाइन सेक्स का क्रेज़ काफी बढ़ गया है. इस नए ट्रेंड की वजह से लोगों को अब शर्मिंदा होना पड़ रहा है. आज हम आपको लोगों के ऑनलाइन सेक्स के अनुभव के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको हैरान कर देंगें.

यदि आप अपने भारी भरकम बिजली के बिल से तंग आ चुके हैं, तो सोलर पैनल है सबसे बेहतर विकल्प, आकर्षक ऑफर, कीमत  मात्र 29,990/  में,जल्दी करें

सम्पर्क करें: 09935965454, 0510-2445454

ऑनलाइन सेक्स के अनुभव

१ – स्ट्रिप डांस में गड़बड़ी

अपने रिलेशनशिप की सेकेंड एनिवर्सरी पर मैंने अपने ब्‍वॉयफ्रेंड को वीडियोचैट पर स्ट्रिपटीज़ डांस से सरप्राइज़ देने के बारे में सोचा. डांस करते हुए अचानक से मैं गिर गई और मुझे काफी चोटें भी आईं. मुझे उस समय बेहद ऑक्यूवर्ड महसूस हुआ और फिर कभी ऐसा करने की हिम्मत नहीं जुटा पाई.

२ – वर्चुअल ओरलसेक्‍स

वीडियोचैट के दौरान मेरे एक्‍सपार्टनर ने अपना प्राइवेट पार्ट दिखाया और कहा कि मैं उसे ऐसे दिखाऊं जैसे कि इसे लिक कर रही हूं. वो मेरे साथ वर्चुअल ओरल सेक्‍स करना चाहता था. इसके बाद मैंने उससे कभी बात नहीं की और उसे हमेशा के लिए ब्लॉक कर दिया.

३ – फोटो के साथ सेक्‍स

एक दिन मैं अपने ब्‍वॉयफ्रेंड के साथ वीडियोचैट कर रही थी और उसने कहा कि वो मेरी फोटो के साथ सेक्‍स करना चाहता है. उसने अपने हाथ में मेरी फोटो पकड़ी और आगे का काम करने की तैयारी में था कि तभी मैंने लॉगआउट कर दिया और फिर कभी उससे बात नहीं की. मेरे लिए यह जानना और सुनना काफी अजीब थाकि मेरा ब्वॉयफ्रैंड मेरी तस्वीर के साथ क्या करना चाहता है. लेकिन मुझे उसे ब्लॉक करते समय बडी़ हँसी भी आई.

४ – मां ने देख लिया

एक लड़की ने बताया कि वो अपने ब्‍वायफ्रेंड के साथ ऑनलाइन सेक्स कर रही थी और उसका ब्‍वॉयफ्रेंड रूम को लॉक करना भूल गया था. दुर्भाग्‍य से उसकी मां वहां आ गई और उसे लैपटॉप पर पाउट बनाते हुए देख लिया.यह दृश्य ना केवल बेटे के लिए बल्कि माँ के लिए भी बेहद शर्मनाक था.

५ – रूममेट की जासूसी

उस समय मैं हॉस्‍टल में रहती थी. एक दिन मैं कमरे में अकेले थी और अपने ब्‍वॉयफ्रेंड के साथ वीडियो सेक्‍स कर रही थी. मुझे अपने कमरे के बाहर कुछ शोर सुनाई दिया. मैंने बाहर जाकर देखा ता मेरी रूममेट मेरी जासूसी कर रही थी. उसने ये भी बताया कि वो अकसर छिपकर झांकती थी और मेरी और मेरे ब्वॉयफ्रेंड की बाते सुना करती थी.

डिजीटीलाइजेशन की दुनिया में लोग ना जाने क्‍या–क्‍या करने लगे हैं. दोस्‍तों ऐसी हरकतें ऑनलाइन करना सेफ तो रहता ही नहीं है साथ ही आपको कभी शर्मिंदा भी होना पड़ सकता है. इसलिए हमारी तो आप से यही सलाह रहेगी कि ऐसा कभी ना करें खास तौर से अगर आप एक महिला हैं. महिलाओं को वैबस्कैम और एमएमएस जैसी ब्लैकमेलिंग से गुजरना पड़ सकता है.

यदि आप अपने भारी भरकम बिजली के बिल से तंग आ चुके हैं, तो सोलर पैनल है सबसे बेहतर विकल्प, आकर्षक ऑफर, कीमत  मात्र 29,990/  में,जल्दी करें

सम्पर्क करें: 09935965454, 0510-2445454


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।