PHOTOS: महिला एक्टर ने बीच सड़क पर उतारे कपड़े, हुई टॉपलेस ,फिल्म इंडस्ट्री में यौन शोषण का विरोध

By: jhansitimes.com
Apr 07 2018 07:34 pm
2698

हैदराबाद। शनिवार को तेलुगू फिल्‍मों की स्‍ट्रगलिंग एक्‍ट्रेस श्री रेड्डी ने कास्‍टिंग काउच के विरोध में हैदराबाद में फिल्‍म चैंबर के बाहर टॉपलेस होकर सड़क पर बैठ गईं। ये इलाका हैदराबाद के पॉश जुबली हि‍ल्स में है। रेड्डी ने टॉलीवुड (दक्षिण भारतीय फिल्‍म इंडस्‍ट्री) की कड़ी बड़ी हस्तियों पर कास्‍टिंग काउच का आरोप लगाया है। एक्‍ट्रेस रेड्डी को ऐसे देख भारी भीड़ जमा हो गई। देखते ही देखते मीडिया भी पहुंच गई। मीडिया से बातचीत में रेड्डी ने कहा कि टॉलीवुड में 75 प्रतिशत स्‍थानीय कलाकारों को मौका दिया जाए। हालांकि श्री रेड्डी के इन आरोपों को टॉलीवुड ने नकार दिया है। प्रदर्शन की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने अभिनेत्री को हिरासत में ले लिया है और पूछताछ कर रही है। विस्‍तार से जानिए पूर मामला

मांगा आरक्षण 

श्री रेड्डी ने टॉलीवुड की कई बड़ी हस्‍तियों पर कास्‍टिंग काउच का आरोप लगाया है। उन्होंने टॉलीवुड में स्थानीय कलाकारों के लिए 75 प्रतिशत रिजर्वेशन की भी मांग की है। उन्होंने कहा कि टॉलीवुड में बाहर के लोगों का दबदबा बढ़ता जा रहा है जिसके कारण स्‍थानीय लोगों को मौके नहीं मिल पा रहे हैं।

बीच सड़क पर  टॉपलेस होने से सब हैरान 

श्री रेड्डी के प्रदर्शन के तरीके ने सभी को हैरान कर दिया। कास्टिंग काउच का ये ऐसा पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी न जाने कितने ऐसे मामले सामने आए। लेकिन इस तरह अपना गुस्सा और विरोध पहले किसे ने भी जाहिर नहीं किया था। फिल्मी दुनिया में इस तरह से हो रहे शोषण के लिए एक कैंपेन चलाया गया था। #MeeToo नाम के इस कैंपेन से अबतक बहुत सारे सेलिब्रिटी जुड़ चुके हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने साथ हुए शोषण के किस्सों का खुलासा किया है।

कई बड़े नामों के खुलासे की धमकी 

कुछ दिन पहले ही श्री रेड्डी ने सोशल मीडिया पर साउथ फिल्म इंडस्ट्री के कई डायरेक्टर्स और एक्टर्स पर कास्टिंग काउच का आरोप लगाया था। हाल ही में इस एक्ट्रेस के आरोपों के खि‍लाफ एक जाने माने डायरेक्टरए एक्टर और राजनेता ने पुलिस शि‍कायत भी दर्ज करवाई थी।

 मुद्दे को बड़ा बना दूंगी 

उन्होंने कहा, 'मुझे यही एक तरीका नजर आया खुद की परेशानी और फ्रस्टेशन को जाहिर करने का। मैंने फिल्म इंडस्ट्री में कई लोगों को उनकी मांग पर न्यूड तस्वीरें भेजीं लेकिन बदले में मुझे कोई रोल नहीं मिला।' एक्ट्रेस ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर फिल्म प्रड्यूसर्स ने लोकल टैलंट को बढ़ावा नहीं दिया तो वह इस मुद्दे को और बड़ा बना देंगी।

रोल देने के नाम पर शोषण 

श्री रेड्डी ने कहा डायरेक्‍टर्स मुंबई और दूसरे शहरों से ऐक्ट्रेस को लाते हैं जबकि स्थानीय लड़कियों को रोल देने के नाम पर यौन शोषण किया जाता है।' बता दें कि पहले भी कई अभिनेत्रियां तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री में कास्टिंग काउच का मुद्दा उठा चुकी हैं।

 कास्टिंग काउच उस अनैतिक और गैर-कानूनी व्यवहार को कहते है, जिसमें किसी को काम दिलाने के बदले शारीरिक संबंध बनाने की मांग की जाती है। अक्सर सीनियर लोग नए आए जूनियर्स से ऐसी मांग करते हैं। हालांकि फिल्मी जगत में इससे जुड़े किस्सों के चलते लोग कास्टिंग काउच जैसी धारणा से रूबरू हुए, मगर ये किसी भी फील्ड में हो सकता है।

शाब्दिक अर्थ पर जाएं तो इसे समझना ज्यादा आसान होगा। काउच का मतलब होता है सोफा। ये निर्देशक और निर्माताओं के कार्यालय में रखे सोफे की ओर इशारा करता है जहां महत्वाकांक्षी अभिनेताओं-अभिनेत्रियों के इंटरव्यू होते हैं। कास्टिंग का मतलब है किसी को फ़िल्म का हिस्सा बनाना अथवा उसे कास्ट करना।


comments

Create Account



Log In Your Account



छोटी सी बात “झाँसी टाइम्स ” के बारे में!

झाँसी टाइम्स हिंदी में कार्यरत एक विश्व स्तरीय न्यूज़ पोर्टल है। इसे पढ़ने के लिए आप http://www.jhansitimes .com पर लॉग इन कर सकते हैं। यह पोर्टल दिसम्बर 2014 से वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की नगरी झाँसी (उत्तर प्रदेश )आरंभ किया गया है । हम अपने पाठकों के सहयोग और प्रेम के बलबूते “ख़बर हर कीमत पर पूरी सच्चाई और निडरता के साथ” यही हमारी नीति, ध्येय और उद्देश्य है। अपने सहयोगियों की मदद से जनहित के अनेक साहसिक खुलासे ‘झाँसी टाइम्स ’ करेगा । बिना किसी भेदभाव और दुराग्रह से मुक्त होकर पोर्टल ने पाठकों में अपनी एक अलग विश्वसनीयता कायम की है।

झाँसी टाइम्स में ख़बर का अर्थ किसी तरह की सनसनी फैलाना नहीं है। हम ख़बर को ‘गति’ से पाठकों तक पहुंचाना तो चाहते हैं पर केवल ‘कवरेज’ तक सीमित नहीं रहना चाहते। यही कारण है कि पाठकों को झाँसी टाइम्स की खबरों में पड़ताल के बाद सामने आया सत्य पढ़ने को मिलता है। हम जानते हैं कि ख़बर का सीधा असर व्यक्ति और समाज पर होता है। अतः हमारी ख़बर फिर चाहे वह स्थानीय महत्व की हो या राष्ट्रीय अथवा अंतरराष्ट्रीय महत्व की, प्रामाणिकता और विश्लेषण के बाद ही ऑनलाइन प्रकाशित होती है।

अपनी विशेषताओं और विश्वसनीयताओं की वजह से ‘झाँसी टाइम्स ’ लोगों के बीच एक अलग पहचान बना चुका है। आप सबके सहयोग से आगे इसमें इसी तरह वृद्धि होती रहेगी, इसका पूरा विश्वास भी है। ‘झाँसी टाइम्स ‘ के पास समर्पित और अपने क्षेत्र में विशेषज्ञ संवाददाताओं, समालोचकों एवं सलाहकारों का एक समूह उपलब्ध है। विनोद कुमार गौतम , झाँसी टाइम्स , के प्रबंध संपादक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। जो पूरी टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। उन्हें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता का पिछले लगभग 16 वर्षों का अनुभव है। के पी सिंह, झाँसी टाइम्स के प्रधान संपादक हैं।

विश्वास है कि वरिष्ठ सलाहकारों और युवा संवाददाताओं के सहयोग से ‘झाँसी टाइम्स ‘ जो एक हिंदी वायर न्यूज़ सर्विस है वेब मीडिया के साथ-साथ पत्रकारिता के क्षेत्र में अपना विशिष्ट स्थान बनाने में कामयाब रहेगा।