अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

देश

दर्दनाक हादसा: थककर चूर आराम कर रहे श्रमिको की ट्रेन से कटकर हुई मौत, पटरियों पर लगा लाशों का ढेर

औरंगाबाद। महाराष्ट्र के औरंगाबाद में दर्दनाक हादसा हुआ है। कोरोना वायरस के खिलाफ लगे लाॅकडाडन के कारण पटरियों के सहारो अपने-अपने गांव पैदल लौट रहे लगभग 15 से अधिक प्रवासी श्रमिक ट्रेन की चपेट में आ गये। जिससे उनकी मौत हो गई। जानकारी होतेे थाने की पुलिस व अधिकारी मौके पर पहुंच गये।
बताया जा रहा है कि घटना मुम्बई से लगभग 360 किलोमीटर दूर औरंगाबाद जिला स्थित करमाड की है। कोरोना वायरस के खिलाफ लगे लाॅकडाउन में प्रवासी श्रमिक वापस अपने-अपने गांव पटरी के सहारे लौट रहे थे। जब वह जालना से भुसावल की ओर पैदल अपने घर (मध्य प्रदेश) लौट रहे थे। तभी थकान के कारण सभी मजदूर पटरी पर ही लेटकर आराम करने लगे। सुबह तड़के सवा पांच बजे एक ट्रेन वहां से गुजरी। मजदूरों को संभलने का भी मौका नहीं मिला और सभी ट्रेन की चपेट में आ गए। हादसा बेहद दर्दनाक था। घटना के समय इलाके में चीख-पुकार मच गई। मजदूरों को ट्रैक पर देखने के बाद लोको पायलट ने मालगाड़ी को रोकने की काफी कोशिश की लेकिन फिर भी सही समय पर ट्रेन नहीं रुक पाई। हादसे का शिकार हुए 14 मजदूरों की मौत हो चुकी है। जबकि 5 लोग घायल हैं. औरंगाबाद के सरकारी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। जहां और भी श्रमिकों की मौत होना बताया जा रहा है।

jhansitimes
the authorjhansitimes