अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

झांसी

झांसी में बड़ रहे कोरोना मरीजों से चिंतित हुआ प्रशासन, अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने किया मंथन

4.95KViews

झांसी। बुन्देलखंड में झांसी जिले के विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी आंद्रा वामसी की अध्यक्षता में जनपद के विधायक, पूर्व केंद्रीय मंत्री, व्यापारिक संगठन सहित आईएमए व नर्सिंग होम एसोसिएशन के सदस्यों के साथ एक बैठक हुई। बैठक में यह निश्चित किया गया कि नर्सिंग होम भी कोविड पेशेंट का इलाज करेंगे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी व उप प्रधानाचार्य मेडिकल कॉलेज ऐसे नर्सिंग होम को चिन्हित करेंगे जहां अधिक बेड की क्षमता के साथ ही अन्य सुविधाएं उपलब्ध हो ताकि वहां कोविड पेशेंट को रखा जा सके और समस्त प्राइवेट डाक्टर उस नर्सिंग होम में भर्ती पेशेंट का उपचार मिलकर कर सकें।
जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में कोविड पेशेंट की संख्या लगातार बढ़ रही है और सरकारी अस्पताल लगभग भर गए हैं। इस समय कोविड के 1044 सक्रिय मरीज है और उन्हें भर्ती करना चुनौती है। यदि नर्सिंग होम मिलकर काम करें तो इस समस्या से निपटा जा सकेगा। प्राइवेट नर्सिंग होम आगे आएं और अपना कर्तव्य निभाएं। उन्होंने कहा कि इस विपरीत समय में समाज का सहयोग नहीं करेंगे तो इतना शिक्षित होने से क्या लाभ है। उन्होंने कहा कि आप सभी की नैतिक जिम्मेदारी है कि आप आगे आएं।
विधायक सदर रवि शर्मा ने नर्सिंग होम एसोसिएशन से कहा कि आपसे आग्रह है कि आप सेवाएं दें आपको प्रशासन सुरक्षा देगा। आर्थिक क्षति ना हो उसके लिए गाइडलाइन के अनुसार भुगतान भी दिया जाएगा। हमें बेहद अफसोस है कि हम मरीजों को होटल में रखें हैं क्योंकि नर्सिंग होम आगे आकर मरीजों को भर्ती नहीं कर रहे।
मेयर रामतीर्थ सिंघल ने कहा कि आपातकाल व सामान्य काल में व्यवहार एक-सा रखना ही बेहतर है। आप डॉक्टर को धरती का भगवान मानकर सम्मानित करते हैं।
बैठक में पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने कहा कि ऐसे नर्सिंग होम जहां सारी व्यवस्थाएं हैं। वह आगे आएं और इलाज करें। उन्होंने कहा कि यदि एमबीबीएस नहीं मिल रहे हैं तो बीएएमएस डॉक्टर अस्पताल में लगाएं।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने कहा कि बैठक में सार्थक चर्चा हो ताकि परिणाम निकल सके जो जानकार हैं वहीं सुझाव दें। उन्होंने कहा हम सभी की मंशा है कि नर्सिंग होम में भी कोविड के साथ अन्य बीमारियों का भी इलाज हो। उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि ऐसे नर्सिंग होम को चिन्हित करें जहां बेडों की संख्या अधिक तथा सुविधाएं भी उपलब्ध हो, जहां कोविड पेशेंट के अतिरिक्त अन्य गंभीर बीमारी वाले मरीजों का इलाज किया जा सके।
बैठक में प्राइवेट नर्सिंग होम एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ ऐ के सांबल ने कहा कि यह लड़ाई हम सभी की साझा है जो भी प्रशासन तय करेगा हम उस कार्य को करने को करने के लिए तैयार है।
इस मौके पर विधायक बबीना राजीव सिंह पारीछा, पूर्व मंत्री रणजीत सिंह जूदेव, संजीव ऋंगऋषि, सांसद प्रतिनिधि सुरेश पटेल, सीडीओ श्री शैलेष कुमार, नगर आयुक्त अवनीश राय, उपाध्यक्ष सर्वेश कुमार दीक्षित, संजय पटवारी, यशोवर्धन गुप्त, डा एस एन सेंगर, डा वीके गुप्ता सहित व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारी व अन्य चिकित्सक व अधिकारी उपस्थित रहें।

jhansitimes
the authorjhansitimes