जनकल्याणकारी दिवस के रुप में बसपाईयों ने मायावती का मनाया जन्मदिन, झांसी में लिया पुनः मुख्यमंत्री बनाने का संकल्प

झांसी। बुन्देलखंड में झांसी के लक्ष्मी गार्डन विवाह घर में बसपा सुप्रीमो मायावती का 64 वां जन्मदिन जनकल्याणकारी दिवस के रुप में मनाया गया। जिसमें चारों विधानसभा से हजारों की संख्या में मिशनरी कार्यकर्ता, पदाधिकारी और अनुयाई शामिल हुए।


झांसी के लक्ष्मी गार्डन मंे बसपा सुप्रीमो मायावती का जन्मदिवस जनकल्याणकारी दिवस के रुप में मनाया गया। जिसमें सेक्टर प्रभारी चित्रकूटधाम एवं झांसी मंडल लालाराम अहिरवार मुख्य अतिथि रहे। इसके साथ ही पूर्व विधायक केपी राजपूत, सेक्टर प्रभारी झांसी मंडल भूपेन्द्र आर्य, सेक्टर प्रभारी झांसी मंडल विनोद गौतम व जिलाध्यक्ष राजू राजगढ़ मौजूद रहे। इसके अलावा पर्वत सिंह पाल, महानगर अध्यक्ष नफीस उर्फ शानू भाई, महेश रिछारिया, मदनलाल अहिरवार, विकास गौतम, गोविंद सिंह रायकवार, पूर्व मंत्री रतन लाल अहिरवार, आरके अहिरवार, दीपक राजपूत, पूर्व विधायक कैलाश साहू, रामजी लाल अहिरवार, मुन्ना लाल दरोगा, सीताराम कुशवाहा, जुगल किशोर कुशवाहा, चरन सिंह यादव, अरुण कुमार मिश्रा, विजय कुशवाहा, जिला जोन इंचार्ज झांसी रविकांत मौर्या, जयपाल अहिरवार, सिद्धार्थ अहिरवार, रामबाबू चिरगाईयां, विक्रम अहिरवार बिजौली, चन्द्रशेखर रायकवार उर्फ आजाद, चन्द्रभान आदिम, समेत कई बसपाई मौजूद रहे।


इस अवसर पर सुबह बसपा कार्यकर्ताओं ने अस्पतालों में जाकर मरीजों को फल वितरण किया। इसके साथ ही बूढ़े, गरीब व असहाय लोगों को कम्बल वितरण किये। इसके अलावा 64 किलो का केक काटकर मायावती के जन्मदिन की बधाईयां दी गईं। इसी क्रम में मिशनरी कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों को समृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया।
लक्ष्मी गार्डन में आयोजित गोष्ठी में सभी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने संकल्प लेते हुए कहा कि 2022 में बहिनजी को पुनः मुख्यमंत्री बनाने के लिए हर सम्भव प्रयास किया जायेगा। मुख्य अतिथि लालाराम अहिरवार ने कहा कि बहिन जी के शासनकाल में कानून व्यवस्था बेहतर थी। युवाओं को रोजगार दिया, व्यापारियों और महिलाओं को सुरक्षित बनाने के लिए कानून व्यवस्था को बेहतर बनाया था। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के कई विकास कार्य कराये। जिनका आज भी जनता को लाभ मिला था।