अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

झांसी

झाँसी जनपद के तीन अति कुपोषित बच्चों को दी गयी गाय

483Views

झाँसी। बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने को लेकर चलाया जा रहा पोषण माह कई मायनों में खास हो गया है। इस माह में जहाँ एक ओर जनपद के कुपोषित बच्चों को चिन्हित कर उनके बेहतर स्वस्थ के लिए कार्य किया जा रहा है वहीं अतिकुपोषित बच्चों के परिवारों को खण्ड विकास अधिकारी श्री रामकान्त वर्मा के द्वारा गाय भेंट की गयी। इन परिवारों को नौ सो रुपये प्रतिमाह आर्थिक मदद भी दी जाएगी।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अभी हाल ही में वीडियो कान्फ्रेंसिग में गोशाला में रह रही दुधारू गायों को अतिकुपोषित बच्चों के स्वजनों को देने को कहा था। इसी के मद्देनजर आज गुरुवार को ज़िला कार्यक्रम अधिकारी नरेन्द्र सिंह के मार्ग निर्देशन में बाल विकास परियोजना अधिकारी श्री देवेन्द्र निरंजन के सहयोग से मुख्य सेविका प्रेमलता गुप्ता के विकासखंड बामौर के गांव रिया से कृष्णा और कन्हैया के साथ गांव कठर्री से लव्यांश अतिकुपोषित बच्चो के परिवार को गाय भेंट की गई। इसके साथ बच्चो के परिवारों को शासन की तरफ से 900 रुपये प्रत्येक माह गायों के रखरखाव के लिए भी दिए जायगे।
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अशोक कुमारी और फूलकुवर ने कुपोषित बच्चों के परिजनों को संतुलित आहार की सलाह देते हुए गाय का दूध सुबह शाम देने की सलाह दी जिससे बच्चे जल्दी से जल्दी कुपोषण के चक्र से बाहर आ सके।
जिला कार्यक्रम अधिकारी नरेंद्र सिंह ने कहा की बच्चों के खान-पान में कमी के कारण कुपोषण की समस्या अधिक है। ऐसे में गाय का दूध कुपोषण दूर करने के लिए कारगर होगा। अभी तीन बच्चों को गाय देकर अभियान शुरू कर दिया गया है, इसी के साथ मुख्य विकास अधिकारी के मार्गदर्शन में पूरे जनपद में आंदोलन चलाकर लोगों से संपर्क किया जा रहा है। किसी के पास गाय पालन हेतु उपयुक्त स्थान है और वह गाय पालन के लिए सहमत है तो उन सभी को गाय मुहैया कराई जाएंगी। वर्तमान में जनपद में लगभग पाँच हज़ार बच्चे अतिकुपोषित है। अगर कोई अतिकुपोषित/कुपोषित बच्चे का परिवार गाय को पालना चाहता है तो अपना नाम समीप के आंगनबाड़ी सेंटर, बाल विकास कार्यालय या बाल विकास एवं पुष्टहार कार्यालय में इस 0510-244-8070 पर संपर्क कर सकता है।

jhansitimes
the authorjhansitimes