बुनकरों के समर्थन में उतरे सपाई, की विद्युत प्रति पूर्ति फिक्सेशन योजना पुनः लागू करने की मांग

(रिपोर्ट-देवेन्द्र चतुर्वेदी) झांसी/मऊरानीपुर। प्रदेश सरकार द्वारा प्रति पूर्ति विद्युत योजना फिक्सेशन समाप्त करने के विरोध में बुनकरों ने पूर्व विधायक डॉ रश्मि आर्य पप्पू सेठ के नेतृत्व में तहसील परिसर में धरना प्रदर्शन कर सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की। साथ ही एक सभा का आयोजन किया। जिसमें वक्ताओं ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये।
इस मौके पर पूर्व विधायक डॉ रश्मि आर्य पप्पू सेठ ने कहा कि 14 जून 2006 में मुलायम सिंह यादव सरकार ने अपने कार्यकाल में बुनकरों की माली हालात को देखते हुए बुनकरों को विद्युत मूल में फिक्सेशन योजना के तहत एक हार्स पॉवर पर 65 रुपये प्रीति पावर लूम एवं इससे अधिक भार पर 130 रुपए फिक्स किया गया था। लेकिन वर्तमान भाजपा सरकार ने कैबिनेट की बैठक में पूर्व की योजनाओं को समाप्त कर नई विद्युत नीति में बदलाव कर बुनकरों से यूनिट के हिसाब से बिल जमा कराए जाने की योजना बना रही है। जिससे बुनकरों पर भारी बोझ पड़ जाएगा। नई विद्युत नीति में बुनकर व्यापार का भरण-पोषण नहीं कर पाएगा। वह अपने क्षेत्र से पलायन करने को मजबूर हो जायेंगे। क्योंकि बुनकरों का जीवन यापन केवल पावर लूमो ऊपर भी आधारित है।
उन्होंने राज्यपाल उत्तर प्रदेश शासन से मुलायम सिंह यादव सरकार के कार्यकाल में लागू की गई बुनकरों के लिए विद्युत प्रति पूर्ति फिक्सेशन योजना पुनः लागू कराए जाने की मांग की है।
इस मौके पर वरिष्ठ सपा नेता जयप्रकाश आर्य, हाजी तुफैल अहमद, दीपक कठिल, गुड्डू मिस्त्री, सतीश श्रीवास, सुभाष सोनी, राजू राय, पन्ना पटेल, मुस्तफा, देवेंद्र पटेल, गोकुल भास्कर, बालादीन यादव, संतोष सेठ, मनोज कुशवाहा, राहुल राय, वीरपाल सेन, वृजेन्द्र यादव, कमलेश आर्य, सोहन लाल श्रीवास, कमरुद्दीन चच्चा, पूरनलाल आर्य, विजय कंचन, जमुना प्रसाद, रामकिशोर भटनागर, भगवत साहू, डॉ उमेश खरे, राजू पायक, रामाधीन आर्य, सोनू आर्य, ओम प्रकाश, राजाराम, हीरालाल, भागीरथ पंडा, रमेश कुमार, बृजेश,जमुना, नंदराम, आसाराम, अमरदीप आर्य, कल्लू सेन, रामदयाल आर्य, अखिलेश नायक, महेंद्र रावत, खूबचंद, रमेश कुशवाहा, नसीम भाई, राजू नाना, मुन्ना चच्चा, अफजल मंसूरी, राजकुमार तिवारी, प्रेम पाल श्रीवास, लखन लाल साहू सहित आदि बुनकर एवं समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।