26 जनवरी की तैयारियों को लेकर हुई चर्चा, इस प्रकार होंगे कार्यक्रम

झांसी। जनपद में गणतंत्र दिवस समारोह तिरंगा के सम्मान के रूप में आयोजित होंगे। नेशनल फ्लैग कोड को नहीं मानने वाले अथवा तिरंगा का अपमान करने वालों को 3 वर्ष की सजा होगी। गणतंत्र दिवस समारोह के कार्यक्रमों में भव्यता का समावेश होगा। कार्यक्रम में प्लास्टिक/पॉलिथीन के झंडे किसी भी सूरत में उपयोग ना हो, मात्र खादी के बने झंडे ही स्वीकार किए जाएंगे। ऐसे ही कई निर्देश आज झांसी जिलाधिकारी शिव सहाय अवस्थी ने विकास भवन सभागार में आयोजित मीटिंग के दौरान दिये हैं। उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस समारोह का मुख्य आकर्षण बैंड वादन होगा। इसके साथ ही जनपद में सरकार द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी ग्रामीण स्तर तक अभियान चलाकर पहुंचाई जाएगी।
गणतंत्र दिवस समारोह की तैयारियों पर चर्चा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि तिरंगा राष्ट्र गौरव का प्रतीक है, परंतु आम जनमानस को विधिक प्रावधानों की जानकारी नहीं है। तिरंगा का अपमान कानूनी अपराध है। राष्ट्रीय प्रतीक तिरंगा इसका सम्मान जरूरी है। जिलाधिकारी ने भारतीय झंडा संहिता की सामान्य जानकारी दी और संस्थाओं द्वारा झंडा कैसे फहराया जाना है तथा केंद्र व राज्य सरकार कैसे झंडा फहराएंगे उसकी भी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के साथ अन्य कोई झंडा नहीं फहराया जाएगा। वाहनों में भी तिरंगे झंडे का उपयोग अपराध है। मात्र चुने विशिष्ट प्रतिनिधियों के अतिरिक्त अन्य कोई इस्तेमाल नहीं कर सकता। यदि कोई तिरंगे का अपमान करता है, तो 3 वर्ष का कारावास के साथ आर्थिक दंड का भी प्रावधान है। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी 2020 को आयोजित होने वाले कार्यक्रम में सार्वजनिक स्थल पर बॉक्स लगाए जाएंगे, जिसमें समारोह के बाद राष्ट्रीय ध्वज जो बच्चे आदि व रैली में शामिल होंगे, उन्हें डिस्पोज हेतु डाला जा सके।
विकास भवन सभागार में गणतंत्र दिवस समारोह 2020 के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए अपर जिलाधिकारी राम अक्षयवर चैहान ने बताया कि प्रातः 7 बजे समस्त सरकारी भवनों एवं शैक्षिक संस्थाओं में स्वच्छ भारत मिशन के अधीन स्वच्छता हेतु श्रमदान किया जाएगा। प्रातः 8 बजकर 30 बजे सरकारी भवनों पर झंडा अभिवादन तथा संविधान संकल्प का स्मरण होगा। प्रातः 9 बजकर 30 मिनट पर पुलिस लाइन में पुलिस परेड आयोजन होगा। प्रातः 10 बजे शैक्षिक संस्थाओं में राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा व एकता, अखंडता, धर्मनिरपेक्षता को बल देते हुए कार्यक्रम आयोजित होंगे। प्रातः 11 बजे जिला अस्पताल में रोगियों व कुष्ठ आश्रम में फल वितरण होंगे। प्रातः 11 बजे मतदान हेतु मतदाता जागरूकता दौड़ का आयोजन होगा। इसके साथ ही दोपहर 12 बजकर 30 बजे प्राइमरी पाठशाला बाहर ओरछा गेट में स्वच्छता एवं मतदाता जागरूकता गोष्ठी होगी। सायं 2 बजे एनसीसी गाइड द्वारा रूट मार्च का आयोजन होगा। पुलिस लाइन से किले से द्वार तक व 3 बजकर 30 बजे किले के मुख्य द्वार पर आम सभा का आयोजन तथा तिरंगे झंडे के गौरवशाली इतिहास तथा उसके महत्व के बारे में वक्ताओं द्वारा जानकारी दी जाएगी।
इस मौके पर सीएमओ डॉक्टर गजेंद्र निगम, एसडीएम संजीव कुमार मौर्य, डीआईओएस कमल यादव, पी डी डॉक्टर आर के गौतम, डॉक्टर नीति शास्त्री, रवीश त्रिपाठी, मोहन नेपाली, संतोष साहू, सुश्री दीपिका शर्मा, सुश्री रंजना विद्रोही, सुश्री प्रगति शर्मा, भूपेंद्र खत्री सहित अन्य अधिकारी व समाज के वरिष्ठ नागरिक उपस्थित रहे।