पलारी जलाने पर आधा दर्जन किसानों पर एफआईआर दर्ज, तीन को भेजा जेल

झांसी। रोक के बाद भी किसान पलारी जला रहे हैं। जिसे गम्भीरता से लेते हुए झांसी के आधा दर्जन किसानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। इसके साथ ही 3 लोगों को 151 सीआरपीसी के तहत जेल में भेजा गया।
उपजिलाधिकारी झांसी राजकुमार ने विभिन्न गांवों में किसानों को जागरुक करते हुए बताया कि कृषि अवशेष में आग न लगाएं। खेत में आग लगाए जाने से खेत की मिट्टी में जो पोषक तत्व होते हैं वह नष्ट हो जाते हैं। साथ ही मित्र कीट मर जाते हैं। जिस कारण मृदा की उर्वरा शक्ति कम होती है और उत्पादन पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। उपजिलाधिकारी राजकुमार ने ग्राम मडोरा, हाजीपुर, लिधौरा व बडागांव  सहित अन्य गांवों में लाउड स्पीकर के माध्यम से किसानों को  पलारी न जलाने की सलाह दी और कहा कि यदि फिर भी आग लगाते हैं तो सख्त कार्रवाई की जाएगी ।
उपजिलाधिकारी ने ग्राम मडौरा के लेखपाल आनंद स्वरूप खरे को लापरवाही बरतने पर निलंबित करने की कार्रवाई करते हुए कहा कि यदि गांव में पलारी जलाई जाती है तो लेखपाल जिम्मेदार होंगे और कार्रवाई की जाएगी। तहसील सदर मे पारी जलाए जाने पर  6 किसानों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज की गई। इसके साथ ही 3 लोगों को 151 सीआरपीसी के तहत जेल में भेजा गया।
इस मौके पर एसओ बड़ागांव सुधीर पंवार सहित तहसील के अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।