अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

झांसी

सर्विलांस टीम द्वारा चिन्हित पेशेंट टेस्टिंग कराने नहीं पहुंचा तो होगी एफआईआर दर्जः झांसी

झांसी। जो लैव टैक्नीशियन अभी तक अपनी तैनाती स्थल पर नहीं पहुंचे उनके खिलाफ कार्यवाही की जाये। किसी भी प्रकार लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। इसी प्रकार जिन संदिग्ध व्यक्तियों को चिंह्ति किया गया और वह कोरोना जांच कराने नहीं आते हैं तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाये। ऐसे ही कड़े निर्देश देते हुए आज झांसी जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने आयुक्त सभागार में कोविड-19 सम्बधी एक बैठक की।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि एल-1 हॉस्पिटल में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं। बरुआसागर, बड़ागांव, महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा चुके हैं। पैरामेडिकल में भी जल्द से जल्द सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएं।
जिलाधिकारी ने सर्विलांस कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि सर्विलांस के कार्य के लिए अधिक से अधिक टीमें लगाई जाए ताकि नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों में शत-प्रतिशत लोगों का सर्वे करते हुए उनकी टेस्टिंग की जा सके। इस अवसर पर उन्होंने निर्देश दिए कि सर्विलांस टीम द्वारा डोर-टू-डोर सर्वे में जो संदिग्ध कोविड पेशेंट चिन्हित हुए हैं और यदि वह टेस्टिंग हेतु नहीं आ रहे हैं तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए।
बैठक में उन्होंने अब तक एल-1 हॉस्पिटल सहित मेडिकल कॉलेज, मिलिट्री हॉस्पिटल, रेलवे हॉस्पिटल, पैरामेडिकल, निर्मल हॉस्पिटल में कितने पेशेंट्स अभी तक भर्ती हुए हैं कितनों को डिस्चार्ज किया जा चुका है इसकी भी जानकारी ली। कंटेनमेंट जोन में होम क्वॉरेंटाइन वाले घर पर ही रहे, बाहर ना निकले, ना लोगों से मिले। उन्होंने कहा कि लोगों को मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने व भीड़ से बचने की भी जानकारी दें, उन्हें जागरूक करें।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी शैलेष कुमार, नगर आयुक्त अवनीश राय, सीएमओ डॉक्टर गजेंद्र कुमार निगम, उप जिलाधिकारी संजीव कुमार मौर्य, वॉयस प्रिंसिपल मेडिकल कॉलेज डॉ एस.एन सेंगर, डॉ अंशुल जैन सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

jhansitimes
the authorjhansitimes