कांग्रेसियों का नया होश ठिकाने फंडा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री ने सीपरी ओवर ब्रिज को चंदे से बनवाने का दिया अल्टीमेटम

झांसी। जनता की सुविधा के लिए शुरु किया गया सीपरी ओवर ब्रिज आज मुसीबत बना हुआ है। झांसी की जनता परेशान है, कई बार इस मुद्दे को उठाया भी गया। लेकिन शासन-प्रशासन को कोई चिंता नहीं है। यह कहते हुए आज झांसी के सीपरी बाजार में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य के नेतृत्व में हस्ताक्षर अभियान चलाया। अभियान के दौरान उन्होंनें चेतावनी देते हुए कहा कि यदि शीघ्र इस ओवर ब्रिज का निर्माण पूरा नहीं कराया जाता है तो वह सभी झोली फैलाकर जनता से चंदा करेंगे और उस चंदे की रकम से इस सीपरी ओवर ब्रिज का निर्माण बड़े इंजीनियरों द्वारा कराया जायेगा।


मालूम हो कि उत्तर प्रदेश की पूर्व सपा शासनकाल में झांसी का सीपरी ओवर ब्रिज का निर्माण शुरु कराया गया था। सपा शासन काल भी चला गया और योगी शासन काल को भी लगभग तीन साल बीत चुके हैं लेकिन अभी तक इस पुल का निर्माण अधर में लटका है जो अब स्थानीय क्षेत्रवासियों के लिए मुसीबत बना हुआ है। स्थानीय क्षेत्रवासियों की इस मुसीबत को लेकर कांग्रेसियों ने झांसी के सीपरी बाजार में हस्ताक्षर अभियान चलाया। जिसमें पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य, अरविन्द वशिष्ट और इम्त्यिाज हुसैन समेत अन्य कांग्रेसी नेता मौजूद रहे। हस्ताक्षर अभियान में आम जनता से लेकर व्यापारियों ने भी बढ़-चढ़कर भाग दिया।


इस दौरान पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने कहा कि आज झांसी की पूरी जनता सीपरी ओवर ब्रिज के अधूरे निर्माण के कारण परेशान है। यदि सरकार ने पुल को शीघ्र नहीं बनाया तो वह और उनकी पार्टी के सदस्य जनता के बीच जाकर झोली फैलाकर चंदा मांगेगे। आने वाले चंदे से देश के अच्छे इंजीनियरों के सहयोग से इस ओवर ब्रिज का निर्माण करायेंगे। आज इस पुल के न बनने से लोग दमा और सड़क हादसे में मर रहे है। साथ ही व्यापार पर भी खासा असर पड़ा है। भाजपा और भारत सरकार की स्मार्ट सिटी का यह अधूरा पुल जीता जागता नमूना है। आज भी सभी लोग देख है कि झांसी स्मार्ट सिटी और क्या स्थिति है।