हर हाल में पराली को जलाने से बचाए, दिये मुख्य सचिव ने कड़े निर्देश

झांसी। जनपद झांसी में पराली न जलाए जाने के संबंध में अभूतपूर्व कार्य किए गए हैं। अन्य जनपद भी अपने यहां पराली न जलाए जाने व जलाने की घटनाओं पर प्रभावी कार्यवाही करें। जनपदों में हार्वेस्टर को प्रतिबंधित किया जाए। जनपद में बेलर मशीन की जानकारी किसानों को दी जाए ताकि मशीन द्वारा पराली काटने के साथ उसे रोलकरती है उसे जलाने की आवश्यकता नहीं है। जिलों में सबसे अधिक हवा प्रदूषण के हॉटस्पॉट चिन्हित कर कार्यवाही सुनिश्चित करें। यह कहना है मुख्य सचिव आर.के तिवारी। उन्होंने वीडियो कांफ्रेसिग के माध्यम से यह निर्देश दिये है।
उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने जानकारी मांगी है कि जिलों में ऐसे कितने स्थल हैं। जहां हवा प्रदूषित है और इसके सुधार में जिलाधिकारी द्वारा क्या प्रयास किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जहां निर्माण कार्य हो रहा है वह उसे ढक कर कार्य करने के निर्देश दिए जाएं, ताकि हवा प्रदूषित ना हो। इसके साथ ही नगर व कस्बा में ऐसे स्थान जहां की हवा प्रदूषित है वहां हॉटस्पॉट चिन्हित करते हुए प्रदूषण मुक्त करने की कार्यवाही की जाए।
उन्होंने कहा कि हर संभव प्रयास किए जाएं कि पराली न जलाई जाए, उसे आश्रय स्थल भेजा जाए ताकि भूसा के साथ मिलाकर गोवंश को खिलाया जा सके। उन्होंने जिलेवार पराली जलाने वाली जलाए जाने पर एफआईआर दर्ज करने के साथ जुर्माना वसूलने की समीक्षा की। उन्होने  कहा कि अब तक जुर्माना लगाने के सापेक्ष वसूली कम हुई है। इसे जनपद बढाये तथा पराली जलाए जाने पर एफआईआर अवश्य दर्ज की जाए।
मुख्य सचिव ने लखनऊ में आयोजित 12 से 16 जनवरी तक होने वाले युवा महोत्सव में ऐसे युवा जिन्होंने किसी क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया है उन्हें विशेष रूप से शामिल करने के निर्देश दिए। साथ ही यूथ आइकॉन अवश्य युवा महोत्सव में शामिल हों। उन्होंने कहा 49 जनपदों ने अपने जिलों से आने वाले युवाओं की सूचना प्रेषित नहीं की है, वह तत्काल सूचना प्रेषित करें ताकि सारी तैयारी की जा सके।
इस अवसर पर एनआईसी झांसी में मंडलायुक्त सुभाष चंद शर्मा जिलाधिकारी शिव सहाय अवस्थी, निखिल टीकाराम पुंडे अपर आयुक्त सर्वेश कुमार दीक्षित जेडीसी चंद्रशेखर शुक्ला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे ।