अयोध्या फैसले से पहले झांसी डीएम और एसएसपी ने खींचा यह खाका, बनाई यह रणनीति

झांसी। उच्चतम न्यायालय द्वारा राम जन्मभूमि/बाबरी मस्जिद के फैसले को लेकर सुरक्षा व शांति व्यवस्था के लिए शासन प्रशासन लगातार प्रयास में जुटा हुआ है। आज झांसी में हुई बैठक के दौरान जिलाधिकारी शिव सहाय अवस्थी ने कहा कि जो भी तैयारियां की गयी है उनका अच्छी तरह से अनुपालन किया जाये। लापरवाही कतई न हो।
झांसी जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद को सुपरजोन, जोनल, सेक्टर के रुप में बांटा गया है। सभी अधिकारी आपसी सामजंस बनाते हुये कार्य करे। आज से एसडीएम/सीओ साथ में भ्रमण करेगे। कन्ट्रोल रुम से रैण्डमली लोंगो से जानकारी लेते रहे, ताकि शान्ति व्यवस्था बनायी जा सके। क्षेत्र में संदिग्ध लोगो को चिन्हित करते हुये उन पर नजर रखी जाये। विशेष रुप से युवाओ पर नजर रखे। सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की पोस्ट जो माहौल बिगाड़ सके उस पर कार्यवाही अवश्य करें।
उन्होने अस्थाई जेल व अतिरिक्त वाहनों की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। अस्थाई जेल में सारी व्यवस्थायंे भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। अस्पतालों की क्रियाशीलता बढाने तथा चिकित्सकांे को उपलब्ध रहने के भी निर्देश दिये। पुलिस व प्रशासन के अधिकारियो से कहा कि हम सभी अपने व्यवहार को बेहतर रखे तथा संयम से काम ले।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डाॅ. ओपी सिंह ने अधिकारियो के साथ बैठक लेते हुये कहा कि जनपद को दो भागो में बांटा गया जिसकी जिम्मेदारी एसपी सिटी व एसपी देहात की होगी। जनपद जो 6 जोन में विभाजित किया गया तथा 57 सेक्टर में बांटा गया है। सभी अधिकारियो को उनके कार्य दायित्व की जानकारी दी जा चुकी है। उन्होने बताया कि 72 पिकेट की भी व्यवस्था की गयी जो 24 घण्टे कार्यरत होगी। समस्त धार्मिक स्थलो पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जा रहे है। इसके साथ ही पैदल भ्रमण किया जाये। बाजार के साथ गलियो व मुहल्ले में भी पैदल भ्रमण हो ताकि लोगो को सुरक्षा का भाव रहे। जिसे जो जिम्मेदारी दी जा रही है वह उसे गम्भीरता से पूरी करे।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे, एडीएम राम अक्षरवर, बी. प्रसाद, एसपी सिटी श्रीप्रकाश द्विवेदी, ग्रामीण राहुल मिठास, प्रशिक्षु संजीव कुमार मौर्य, नगर मजिस्ट्रेट साहिल पटेल सहित समस्त एसडीएम, क्षेत्राधिकारी पुलिस, जिलास्तरीय अधिकारी, थानाध्यक्ष आदि उपस्थित रहे।