खाकी का इंसानी चेहराः तीन बच्चों सहित मरने जा रही मां को बरुआसागर पुलिस ने बचाया

झांसी। यदि आप पुलिस को लेकर गलत सोच रखते हैं तो इसे बदल दीजिए। क्योंकि इनमें भी इंसानियत होती है। इसका उदाहरण झांसी के बरुआसागर में नजर आया। जहां थाना प्रभारी ने अपनी तत्र्परता दिखाते हुए तीन बच्चों सहित आत्महत्या करने जा रही मां को न केवल बचाया बल्कि उसे समझाया भी।
बुधवार को आपातकालीन नम्बर 112 पर झांसी जिले के बरुआसागर थाना प्रभारी बृजनेश यादव को सूचना मिली कि एक महिला अपने तीन बच्चों के साथ रेलवे लाइन की ओर जा रही है। शक होने पर थाना प्रभारी अपनी टीम के साथ बताये गये स्थान पर पहुंचे। जहां देखा उक्त महिला अपने बच्चों के साथ आत्महत्या करने जा रही है। पुलिस ने तत्पर्रता दिखाते हुए उक्त महिला को रोका और समझाकर अपने साथ थाने ले आई।
थाना प्रभारी के अनुसार उक्त महिला ने अपना नाम ममता अहिरवार निवासी कंधारी थाना निवाड़ी बताया है। इसके साथ ही महिला ने अपने बच्चों के नाम 10 वर्षीय महक, 8 वर्षीय खुशबू और 7 वर्षीय प्रिंस बताये। महिला का कहना है कि उसका पति अक्सर उसे तरह-तरह से यातनायें देकर प्रताड़ित करता है। जिससे तंग आकर वह अपने बच्चों के साथ आत्महत्या करने जा रही थी। पुलिस ने महिला ने पूछतांछ करते हुए उसे समझाया और फिर इसकी सूचना निवाड़ी पुलिस को दी।