अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

झांसी

तालाबों, झीलों एवं महत्वपूर्ण वेटलैंड को पुनर्जीवित करने की कार्य योजना 20 अगस्त तक करें तैयारः डीएम झांसी

झांसी। बुन्देलखंड के झांसी में जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने वेबिनार के माध्यम से अधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें उन्होंने एनजीटी के निर्देश बताते हुए कहा कि क्षेत्र के तालाबों, झीलों एवं ऐसे महत्वपूर्ण वेटलैंड को पुनर्जीवित, संरक्षित व संवर्धित करने की कार्य योजना 20 अगस्त तक तैयार कर लें। जिससे शीतकालीन समय में प्रवासी पक्षियों के आवागमन में वृद्धि हो सके।
वेबिनार के माध्यम से जिलाधिकारी ने कहा कि एनजीटी द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में प्रदेश के अंतर्गत तालाबों, झीलों एवं वेटलैंडस् को पुनर्जीवित, संरक्षित व संवर्धित किए जाने हेतु कार्य योजना तैयार किया जाना है। उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि स्थान का चयन प्राथमिकता से किया जाए जहां प्रवासी पक्षियों के अधिक आने की संभावना है।
वेबीनार के माध्यम से जिलाधिकारी ने ग्राम विकास विभाग, ग्राम पंचायत विभाग, बेतवा नहर प्रखंड सिंचाई विभाग, लघु सिंचाई विभाग व वन विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि वेटलैंड्स की सूची जिला प्रशासन द्वारा तैयार है उसी के अनुसार संबंधित विभाग अपने अधिकारिता क्षेत्र में आने वाले वेटलैंडस् निर्धारित करते हुए समय सीमा में कार्य योजना तैयार करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में अनेकों ऐसे क्षेत्र हैं जहां प्राकृतिक सौंदर्य बेमिसाल है। सिंचाई विभाग के अनेकों चेक डैम, झील तथा नहरें हैं, वहीं लघुसिंचाई के ग्रामीण अंचल में तालाब व क्या डेम है। वहीं वन विभाग के जंगलों में झील, चेक डैम व तालाब हैं यदि इन पर कार्य करने हेतु कार्य योजना तैयार की जाए तो प्रवासी पक्षी आकर्षित होंगे साथ ही आय का जरिया भी तैयार होगा।

jhansitimes
the authorjhansitimes