आसमान छू रहे प्याज और लहसुन के दाम, गरीबों की थाली से हुए गायब

झांसी। महंगाई की मार से आम आदमी त्रस्त है। इसकी आंच अब नगर व कस्बों से लेकर ग्रामीण अंचलों तक पहुंच गई है। सब्जी के आसमान छूते दामों से लोगों की थाली का स्वाद फीका होने लगा है। सबसे ज्यादा प्याज के बढ़े दामों ने लोगों के आंसू निकाले हैं जिसका लोग सस्ते होने की उम्मीद लगाए बैठे हैं।
महंगाई की आंच अब ग्रामीणांचल के खानपान तक आ चुकी है। एक तरफ सरकार द्वारा किसानों की उपज पर फसल मूल्य बढ़ाने पर किसानों में खुशी है वहीं महंगी सब्जी से खानपान का रंग भी फीका हो गया है। लोग लंबे अरसे से सब्जी के दाम कम होने के इंतजार में हैं। झांसी जिले के अलग अलग नगर गांव के बाशिंदों ने पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि पूर्व की अपेक्षा सब्जी के दामों में हुई बेतहाशा वृद्धि ने लोगों की कमर तोड़ दी है।
बाजार में काफी समय से प्याज के दाम 60 से 90 रुपए किलो है। वहीं लहसुन दो सौ रुपए पहुंच चुका है। ऐसे में गरीब जनता की रसोई से प्याज व लहसुन गायब होता जा रहा है। वहीं अन्य सब्जियों में शिमला मिर्च 80 रुपए किलो, अदरक 100 रुपए, मैथी 40 रुपए, चना साग 80 रुपए, टमाटर 40 रुपए, पत्ता गोभी 40 रुपए, गोभी 75 रुपए, मटर 60 रुपए किलो तक है। वहीं सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि इंदौर, कानपुर एवं दूर की मंडियों से आने के कारण व किसी सब्जी का कम उत्पादन होने पर इनके दाम बढ़ जाते हैं। फिलहाल सब्जी के आसमान छूते दामों से के लिए खानपान मुश्किल सा हो गया है।