अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

झांसी

भाजपा नेता के बयान पर राजा रणजीत सिंह जूदेव ने की तीखी आलोचना

Views

(रिपोर्ट-मृदुल पांडे) झांसी/मोंठ। बुन्देलखंड में झांसी के समथर में कृषि कानून बिल को लेकर किसानों द्वारा किए जा रहे धरना प्रदर्शन को लेकर भाजपा के प्रदेश मंत्री अशोक जाटव द्वारा दिए गए बयान में किसानों को किराए के टट्टू कहे जाने पर पूर्व मंत्री उत्तर प्रदेश शासन राजा रणजीत सिंह जूदेव ने तीखी आलोचना की है। उनके बयान को किसानों का अपमान और लोकतंत्र की हत्या करार दिया है। जूदेव ने कहा है कि समाचार पत्रों के माध्यम से भाजपा के प्रदेश मंत्री अशोक जाटव का बयान पढ़कर बहुत ही दुख हुआ है एवं शर्मिंदगी महसूस हुई है। उनके द्वारा किसानों को किराए का टट्टू बताए जाने वाला घ्रणित बयान शर्मनाक ही नहीं बल्कि लोकतंत्र की हत्या जैसा है और किसान भाइयों का घोर अपमान है। ऐसा बयान बहुत ही निंदनीय है। उन्होंने कहा कि जाटव को ज्ञात होना चाहिए कि अपने हित की मांगों को लेकर धरना देना संवैधानिक अधिकार है। किसान किसी का टट्टू नहीं होता है बल्कि वह तो देश का अन्नदाता है। किसान आंदोलन में संपूर्ण उत्तर भारत के किसानों के अलावा महिलाओं और बेटियों ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है। इनको किराए का टट्टू कहना घोर अपमानजनक है जो पूंजीपतियों के हाथों की कठपुतली बने हुए हैं वह किसानों की पीड़ा को क्या समझेंगे। ऐसा निंदनीय बयान देकर भाजपा नेता ने अपनी दूषित मानसिकता को उजागर कर दिया है। ऐसा शर्मनाक बयान तो कृषि मंत्री या उनकी पार्टी के किसी अन्य नेता ने भी नहीं दिया है। अपनी पार्टी के नेताओं को खुश करने एवं पार्टी में ओछी लोकप्रियता बढ़ाने के लिए दिया गया ऐसा घटिया बयान बहुत ही निंदनीय है। इस प्रकार के अपशब्दों का प्रयोग करना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है । जाटव के ऊपर कड़ी कार्रवाही की जानी चाहिए ताकि किसानों का सम्मान व स्वाभिमान सुरक्षित रह सके ।

jhansitimes
the authorjhansitimes