अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

झांसी

समाज को शिक्षित बनाने में संत गाडगे का रहा योगदान: चिंतामणि

Views

झांसी। बुंदेलखंड  के झांसी में संत गाडगे जन्मोत्सव समिति के तत्वाधान में सामाजिक क्रांति के अग्रदूत स्वच्छता के जनक राष्ट्र संत गाडगेजी महाराज के 145 जन्मोत्सव मनाया गया। इस उपलक्ष में विशाल शोभा यात्रा महासभा का आयोजन एक स्थानीय विवाह घर में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता देवी दयाल भारती व प्रमुख अतिथि के रूप में रिटायर्ड आईएएस चिंतामणि रहे।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि चिंतामणि ने बताया की जो समाज अपने महापुरुषों के बताए हुए मार्ग पर नहीं चलता, वह समाज हमेशा बिखरा हुआ होता है। गाडगेजी महाराज ने अशिक्षित वह गरीब होते हुए भी देशवासियों को शिक्षा व स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। उन्होंने बताया समाज का सामाजिक आर्थिक व शैक्षणिक विकास का एकमात्र साधन शिक्षा है। उन्होंने समाज से एक साथ रहने का आह्वान किया क्योंकि बिखरे हुए समाज का कोई अस्तित्व नहीं होता। उन्होंने आगे बताया समाज एकता का मुख्य बाधक समाज का पढ़ा-लिखा वर्ग ही है जो अशिक्षित व अनपढ़ व्यक्तियों को गुमराह करने का कार्य करते हैं।
इसी क्रम में विशिष्ट अतिथि सीपी वर्मा ने बताया कि समाज की एकता का मार्ग स्वयं के घरों से होकर जाता है उन्होंने बताया किस समाज की महिलाएं अपने परिवार में एक साथ रहने का कार्य करें। दयाराम आजाद ने बताया कि बच्चों को शिक्षा की ओर आगे बढ़ना चाहिए भले ही एक समय का खाना कम खाना पड़े। समाज को एक दिशा में अग्रेषित करने के लिए कार्य करना चाहिए। इसके साथ ही अन्य वक्ताओं ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम में समाज के वरिष्ठ समाजसेवियों को मुख्य अतिथि के माध्यम से संत गाडगे रत्न व मेधावी बच्चों को भी सम्मानित किया गया। तत्पश्चात कनौजिया समाज द्वारा भंडारे का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम में झांसी जनपद में सक्रिय विश्व रजक महासंघ पश्चिमी उत्तर प्रदेश संत गाडगे महासभा झांसी नवयुवक रजक समाज सेवा समिति कनोजिया समाज झांसी भीम गाडगे सेवा समिति गाडगे यूथ बिग्रेड अखिल भारतीय धोबी महासंघ रजक समिति हसारी आदि अलग-अलग संगठनों का सहयोग रहा।
इस मौके पर संत गाडगे जन्म उत्सव समिति के संयोजक प्रागी लाल राजन अध्यक्ष, अरविंद कुमार बबलू पार्षद के साथ महेंद्र रजक, हरिकिशन रजक, शैलेश कुमार बुंदेला, संजय आनंद, हेमंत श्रीवास्तव, केपी श्रीवास, अनिल श्रीवास, अरविंद गाडगे, मुकेश श्रीवास, पवन, सोनू, अवध कुमार, पवन किशोरी लाल बाबू, रामभरोसे पेंटर, ललित किशोर, हुकुमचंद, सुनील अहिरवार, मनोज बुंदेला, सुरेंद्र श्रीवास, बूंदी लाल कनोजिया, सीताराम श्रीवास, ठाकुर दास श्रीवास समेत अन्य मौजूद रहे।

 

jhansitimes
the authorjhansitimes