दूर-दूर तक प्रसिद्ध है झाँसी के बरुआसागर कस्बे का फर्नीचर, सालों-साल चलने की दी जाती गारंटी

झांसी। यदि आप सुंदर और मजबूत फर्नीचर का शौक रखते हैं तो कहीं जाने की जरुरत नहीं है। बस आपकों करना होगा रानी लक्ष्मीबाई की नगरी झांसी से 30 किलोमीटर का सफर तय और मिल जायेगा वह स्थान जहां इस प्रकार मजबूत और सुन्दर फर्नीचर मिलता है, उस स्थान का नाम बरुआसागर है।
बताते चलें कि झांसी से लगभग 30 किलोमीटर दूर इस कस्बे का नाम बरुआसागर है। जहां जगह-जगह फर्नीचर की दुकानें खुली हैं। इन दुकानों पर मिलने वाला फर्नीचर सागौन और शीशम से बने होने का दावा किया जाता है। जब इसके बारे में दुकानदार जाहिद उर्फ कल्लू से बात की गई तो बताया कि बरुआसागर में झांसी ही नहीं बल्कि काफी दूर-दूर से लोग आते है और फर्नीचर लेकर जाते हैं। क्योंकि यहां फर्नीचर सागौन और शीशम का होने के कारण मजबूत होता है। उनका प्रयास रहता है कि फर्नीचर को इतना सुंदर और मजबूत बनाया जाये, जिससे ग्राहक को किसी प्रकार की परेशानी न हो।


यहां झांसी, जालौन, ललितपुर, दतिया, सागर समेत अन्य स्थानों से लोग आते हैं। सबसे अधिक खरीददारी शादी के समय होती है। एक सेट बनाने में 7 से 10 दिन लगते हैं जो, कुशल कारीगरों द्वारा बनाया जाता है। जिसकी कीमत लगभग 50 से 70 हजार रुपए होती हैं। जिसमें एक डबलवेड, सोफा और ड्रेसिंग टेबिल शामिल होती है।