तिलकचन्द्र अहिरवार हुए बसपा से निष्कासित, अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधि में लिप्त होने का लगा है आरोप

झांसी। अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के कारण तिलक चन्द्र अहिरवार को बसपा सुप्रीमो मायावती के आदेश पर पार्टी से निष्कासन किया गया है। जिसकी जानकारी बसपा जिलाध्यक्ष राजू राजगढ़ ने प्रेस नोट के माध्यम से दी है।
बसपा जिलाध्यक्ष राजू राजगढ़ द्वारा जारी किये गये प्रेस नोट के अनुसार तिलक चन्द्र अहिरवार पर काफी समय से अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप लगाया जा रहा था। जिसकी शिकायत पार्टी मुखिया मायावती को हुई। जिसे गम्भीरता से लेते हुए छानबीन कराई गई। छानबीन में आरोप सही पाये गये। जिस पर बसपा सुप्रीमो मायावती के आदेश पर तिलक चन्द्र अहिरवार का पार्टी से निष्कासन कर दिया गया है।