अफसरों की लापरवाही में फंसी #स्मार्ट_सिटी, #झांसी में बने #पिंक_टॉयलेट में लगा ताला

अन्य

अन्यझांसी

जानिए, आखिर मकर संक्रांति पर भगवान सूर्य की क्यों होती उपासना

(रिपोर्ट-गोविंद सिसोंदिया) झांसी/गुरसराय। भारतीय ज्योतिष में 12 राशियां मानी गई हैं। उनमें एक मकर राशि में सूर्य के प्रवेश करने को मकर संक्रांति के नाम से जाना जाता है। मतलब यह है कि सूर्य के उत्तरायण होने को मकर संक्रांति...

अन्य

जानिए लोहड़ी के पीछे की कहानी

डेस्क। लोहड़ी का त्योहार धूमधाम से मनाया जाता है। इस साल लोहड़ी का पर्व 13 जनवरी को मनाया जा रहा है। इस दिन सभी अपने घरों और चौराहों के बाहर लोहड़ी जलाते हैं। आग का घेरा बनाकर दुल्ला भट्टी की...

अन्यझांसी

इस गीत के लिए विवेक कुमार बरसैया गुरसराय को नवाजा गया कई पुरस्कारों से

छंद हो, तुम ग़ज़ल हो, तुम्हीं गीत हो। प्राण  में  गूँजता  दिव्य संगीत हो। वेद की तुम ऋचा, नाद अनहद तुम्हीं, ज़िन्दगी की तपन में, तुम्हीं शीत हो। गुण ही गुण दीखते, जब तुम्हें देखता, मात्र गुण ही नहीं, तुम...

अन्यझांसीयूपीहोम

पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप बोले-हमारे साथ क्यों हो रहा आतंकवादी और नक्सलवादी जैसा व्यवहार

झांसी। क्या हम आंतकवादी है या फिर नक्सलवादी, जो हमें घर में कैद कर दिया गया है। आखिर क्यों, वह पूछना चाहते हैं। यह कहना है पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य का। जिन्होंने नजरबदं के दौरान पत्रकारों से वार्ता...

अन्यझांसी

होली एरच महोत्सव मे वित्तीय सहायता के लिए गरौठा विधायक ने पर्यटन महानिदेशक को लिखा पत्र

(रिपोर्ट-बालमुकुन्द रायकवार) झाँसी/एरच। बुन्देलखंड में झांसी जिले के एरच नगरी एक ऐतिहासिक और प्राचीन पवित्र श्री भक्त प्रहलाद की नगरी है। इसी नगरी से होली जैसे अनूठे त्यौहार की शुरुआत हुई और आज देश-दुनिया मे मनाई जाती है। ऐतिहासिक नगरी...

अन्ययूपी

भोर हुई वो घर से निकला

भोर हुई वो घर से निकला , जग सारा जब सोया था । तन उसके दो गज का गमछा, शिक़वे न किसी से करता था । सुबह से लेकर दो पहर तक, रहता वो खलियानों में, दो जून के खाने...

अन्यझांसीबुन्देलखंड

साधारण दिखने वाले चौधरी चरण सिंह असाधारण व्यक्तित्व के धनी थे…

- अशोक बौद्ध 23 दिसंबर 1902 को ग्राम- नूरपुर, हापुड़ (उ. प्र.) में किसान परिवार में जन्में चौधरी चरण सिंह शिष्टाचार की महान मिसाल बने। उन्होंने एमए (आर्ट) तक शिक्षा प्राप्त की। वह देश के ऐसे प्रधानमंत्री थे जो कभी...

अन्यबुन्देलखंडहोम

बुन्देलखंडः पंचनद का है अनूठा जल संसार, यहां डॉल्फिन करती हैं अठखेलियां, लुभाते हैं विदेशी पक्षी

जालौन/जगम्मपुर। यूं तो बुन्देलखंड में कई पर्यटक स्थल है, लेकिन जनपद जालौन का पचनद धाम कुछ खास ही है। यहां पर पांच नदियों का मिलन होता है जो अपने आप में अनूठा है। त्रिवेणी कहे जाने वाले प्रयागराज के संगम...

अन्यबुन्देलखंड

बुंदेलखंड में पूरे मास कड़ाके की ठंड में ब्रम्हमुहूर्त में तालाब, पोखर पर जाकर कतकयारी करती हैं स्नान

बुंदेलखंड में विभिन्न त्यौहार परम्परागत तरीके से मनाये जाते हैं साथ ही कार्तिक महीने में स्नान का अलग ही महत्व होता है।कार्तिक मास में कार्तिक स्नान एक पर्व विशेष के रूप में मनाया जाता है। इसी परंपरा को लेकर जैतपुर...

अन्यझांसीबुन्देलखंड

… तो यह कारण है अन्नकूट गोवर्धन पूजा करने

(रिपोर्ट- गोविंद सिसोंदिया) झांसी/गुरसरांय। झांसी के गुरसराय समेत पूरे बुन्देलखंड में अन्नकूट गोवर्धन पूजा श्रद्धापूर्वक मनाई गई। लेकिन क्या आप जानते हैं ऐसा क्यों होता है। चलिए हम बताते हैं आपको। हमारे कृषि प्रधान देश में गोवर्धन पूजा जैसे प्रेरणा...

1 2 4
Page 1 of 4